नई दिल्ली, डॉ रवि सिंह। कोरोना काल में सोना बेहद शानदार रिटर्न दे रहा है। साल 2020 में सोने ने अब तक करीब 24 फीसद रिटर्न दिया है। वहीं, इस दौरान शेयर मार्केट से नकारात्मक रिटर्न मिला है। बुधवार के कारोबार में सोने के वायदा भाव ने अपने पिछले सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए। एमसीएक्स पर सोने का भाव बुधवार को 48 हज़ार 420 रुपये प्रति 10 ग्राम के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गया था। कोरोना वायरस को लेकर अनिश्चितता के चलते सेफ हैवन बने सोने में लगातार निवेश हो रहा है। अनुमान है कि सोना दिवाली तक 50 से 52 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर पहुंच सकता है।

इस साल अब तक 24 फीसद रिटर्न दे चुका सोना

31 दिसंबर 2019 को सोने का भाव एमसीएक्स पर 39 हज़ार 108 रुपये प्रति 10 ग्राम था। वहीं, 24 जून 2020 को सोना 48 हज़ार 420 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया। अर्थात हर 10 ग्राम पर 9 हज़ार 112 रुपये या 24 फीसद रिटर्न मिला है। मौजूदा कारोबारी साल की बात करें, तो 31 मार्च के बाद भी सोना अब तक 5 हज़ार 452 रुपये प्रति 10 ग्राम बढ़ चुका है। अर्थात कोरोना काल में निवेश के तमाम विकल्पों पर सोना भारी पड़ा है।

यह है सोने का 10 वर्षों का इतिहास

बीते 10 वर्षों में सोने के इतिहास पर नजर डालें, तो हम देखते हैं कि साल 2011 में सोने ने 31.85 फीसद रिटर्न दिया था। इसके बाद साल 2012 में गोल्ड निवेशकों को 12.92 फीसद रिटर्न मिला। साल 2013 में सोने में निवेश करने वालों को घाटा हुआ और उन्हें -8.09 फीसद का नेगेटिव रिटर्न मिला। इसके बाद साल 2014 में भी सोने ने -5.86 फीसद का नेगेटिव रिटर्न दिया। साल 2015 में भी सोने का नेगेटिव रिटर्न जारी रहा और यह -6.64 फीसद रहा।

फिर साल 2016 में सोने के रिटर्न में सबसे ज्यादा गिरावट दिखाई और यह 10.08 फीसद घट गया। इसके बाद साल 2017 से सोना प़ॉजिटिव रिटर्न देने लगा। 2017 में इसने 5.67 फीसद रिटर्न दिया। साल 2018 में सोने से 8.24 फीसद रिटर्न मिला। इसके बाद साल 2019 में सोने से रिटर्न बढ़कर 24.58 फीसद हो गया। अब साल 2020 में सोना अब तक 24 फीसद रिटर्न दे चुका है।

ये हैं तेजी के कारण

सोने में निवेश की बड़ी वजह ब्याज दरों में कमी, शेयर मार्केट पर दबाव, तुरंत नकदी मुहैया कराना और अर्थव्यवस्था में मंदी माना जा रहा है। ETF में रिकॉर्ड निवेश और दुनियाभर के सेंट्रल बैंकों के सोना खरीदने से भी सोने की कीमतों में तेजी आ रही है।

(लेखक कार्वी स्टॉक ब्रोकिंग के वीपी एवं हेड ऑफ रिसर्च हैं)

Posted By: Pawan Jayaswal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस