नई दिल्ली (जेएनएन)। बीते वित्त वर्ष के दौरान विप्रो के चेयरमैन अजीम प्रेमजी के वेतन में 63 फीसद की गिरावट देखने को मिली। यह गिरकर करीब 1,21,853 डॉलर (लगभग 79 लाख) के स्तर पर पहुंच गई। साथ ही इस साल किसी भी तरह के कमीशन का भुगतान नहीं किया गया। उन्होंने बीते वित्त वर्ष के दौरान 3,27,993 डॉलर (करीब 2.17 करोड़) का बड़ा मुआवजा हासिल किया था।

प्रेमजी के पैकेज में 66,464 डॉलर की सैलरी और अलाउंस शामिल है। साथ ही 13,647 डॉलर का लंबी अवधि का मुआवजा भी शामिल है, जिसे कुल मिलाकर वित्त वर्ष 2016-17 में यह कुल राशि 121,853 डॉलर के करीब बैठती है। यह जानकारी अमेरिकी बाजार नियामक सिक्योरिटी एंड एक्सचेंज कमीशन के में जमा किए गए दस्तावेज के जरिए सामने आई है। इस दस्तावेज में कहा गया, “अजीम प्रेमजी वित्त वर्ष 2017 (हाल ही में 31 मार्च को खत्म हुए) के दौरान विप्रो को हुए कुल मुनाफे में से 0.5 फीसद का इंक्रीमेंटल नेट प्रॉफिट पाने के हकदार हैं। अजीम प्रेम जी को भारतीय मुद्रा में दिया गया कमीशन निल है।”

वहीं अन्य कार्यकारियों को तिमाही परफार्मेंस लिंक्ड स्कीम के आधार पर अलग-अलग वेतन का भुगतान किया गया है, जिसका निर्धारण व्यक्तिगत तौर पर अहम पैरामीटर्स और बिजनेस यूनिट, डिवीजन, सेगमेंट और पूरी कंपनी के संयुक्त प्रदर्शन के आधार पर दिया गया। आपको बता दें कि वित्त वर्ष 2015-16 के दौरान अजीम प्रेमजी को 1,39,634 डॉलर का कमीशन मिला था।

Posted By: Praveen Dwivedi