नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। देश में ग्राहक पेट्रोल पंप से पेट्रोल-डीजल के लिए जो कीमत अदा करते हैं उसमें 75 फीसद तो वे टैक्स ही देते हैं। अर्थात टैक्स के कारण पेट्रोल-डीजल की वास्तविक कीमत चार गुना बढ़ जाती है। हम सभी जानते हैं कि कच्चे तेल की वैश्विक कीमतें इस समय काफी कम हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए दुनिया भर के कई देशों में जारी लॉकडाउन के कारण इसकी खपत में जबरदस्त गिरावट आई है। खपत में गिरावट के परिणामस्वरूप कच्चे तेल की वैश्विक कीमतें भी काफी कम रह गई हैं।

तेल की वैश्विक कीमतों में गिरावट के साथ ही सरकारें पेट्रोल-डीजल पर टैक्स को बढ़ा देती हैं, जिससे तेल की वैश्विक कीमतों में गिरावट का लाभ पेट्रोल-डीजल के ग्राहकों को नहीं मिल पाता है। केंद्र सरकार ने अपना राजस्व बढ़ाने के लिए मंगलवार को ही पेट्रोल पर एक्साइज शुल्क को 10 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 13 रुपये प्रति लीटर बढ़ाया है। आइए अब जानते हैं कि पेट्रोल-डीजल पर कौन-कौनसे टैक्स लगाए जाते हैं।

चार गुना हो जाती हैं कीमतें

एक्साइज शुल्क, वैट और डीलर कमिशन के कारण पेट्रोल-डीजल की कीमत करीब चार गुनी हो जाती है। उदाहरण से समझें, तो दिल्ली में पेट्रोल-पंप डीलर को पेट्रोल 18.28 रुपये प्रति लीटर पर मिल रहा है। इस कीमत में आधार मूल्य और भाड़ा शामिल होता है। अब इस कीमत पर वैट, एक्साइस शुल्क और डीलर कमीशन जुड़ जाने के बाद रिटेल प्राइस 71.26 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच जाती है। इस तरह कीमत करीब चार गुना बढ़ जाती है। यह दिल्ली में 6 मई का भाव है। इसी तरह डीजल की बात करें, तो डीलर को एक लीटर 18.78 रुपये में मिल रहा है। जबकि इसकी रिटेल प्राइस 69.39 पहुंच जाती है। कीमत में यह बढ़ोत्तरी वैट, एक्साइस शुल्क और डीलर कमीशन जुड़ने के कारण हुई है।

ब्रेंट ऑयल की कीमतें गिरती गईं और पेट्रोल पर टैक्स बढ़ता गया

  अभी का स्तर 

अक्टूबर 2018 साल 2014

पेट्रोल मूल्य प्रति लीटर

71.26 रुपये 84 रुपये 69 रुपये
ब्रेंट ऑयल मूल्य प्रति बैरल 30 डॉलर 85 डॉलर 100 डॉलर
एक्साइज ड्यूटी प्रति लीटर 

32.98 रुपये 19.48 रुपये 9.60 रुपये
वैट 30 फीसद     27 फीसद 20 फीसद
डीलर कमीशन प्रति लीटर 3.50 रुपये 3.66 रुपये 1.90 रुपये

डीजल पर इस तरह बढ़ा टैक्स 

  अभी का स्तर  

अक्टूबर 2018

साल 2014
डीजल मूल्य प्रति लीटर 69.39 रुपये 75.45 रुपये 59 रुपये
ब्रेंट ऑयल मूल्य प्रति बैरल 30 डॉलर 85 डॉलर  100 डॉलर
एक्साइज ड्यूटी प्रति लीटर

31.83 रुपये 15.33 रुपये 3.50 रुपये
वैट      

30 फीसद 16.75 फीसद 12.50 फीसद
डीलर कमीशन प्रति लीटर 2.50 रुपये 2.53 रुपये 1.20 रुपये

 

इतना लगता है टैक्स

पेट्रोल पर एक्साइस शुल्क 32.98 रुपये प्रति लीटर लग रहा है। वहीं, डीजल पर यह 31.83 रुपये प्रति लीटर है। वैट की बात करें, तो यह राज्यों द्वारा लगाया जाता है। यह हर राज्य में अलग-अलग है। जो राज्य सबसे अधिक वैट वसूलते हैं, उनमें मध्य प्रदेश, राजस्थान, केरल और कर्नाटक शामिल हैं। ये करीब 30 फीसद वैट वसूलते हैं। अब डीलर के कमीशन की बात करें, तो यह पेट्रोल और डीजल पर अलग-अलग है। यह फ्यूल पंप की लोकेशन के हिसाब से भी भिन्न-भिन्न होता है। यह 2 से 4 रुपये प्रति लीटर तक होता है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में डीलर का कमिशन पेट्रोल पर 3.57 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 2.51 रुपये प्रति लीटर है।

Posted By: Pawan Jayaswal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस