नई दिल्ली: टाटा ग्रुप की बड़ी कंपनी टाटा केमिकल्स के स्वतंत्र निदेशक भास्कर भट्ट ने इस्तीफा दे दिया है। इस इस्तीफे को साइरस मिस्त्री के समर्थन में देखा जा रहा है। वहीं तमाम मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक टाटा ग्रुप साइरस मिस्त्री को ग्रुप की सभी कंपनियों में दखल कम करने की तैयारी कर रहा है। ऐसे में यह कहा जा सकता है कि टाटा-मिस्त्री के बीच बोर्डरुम की लड़ाई और तेज होती जा रही है। गौरतलब है कि बीते 24 अक्टूबर को टाटा ग्रुप के चेयरमैन पद से साइरस मिस्त्री को हटा दिया गया था, जिसके बाद रतन टाटा ने कमान संभाल ली थी।

यह भी पढ़ें- इशात हुसैन बने टीसीएस के नए चेयरमैन, शेयर 2 फीसदी उछला

टाटा ग्रुप की सभी कंपनियों से मिस्त्री का दखल कम करने की तैयारी:

हाल ही में टीसीएस में 73.3 फीसदी हिस्सेदारी रखने वाले टाटा ग्रुप से सायरस मिस्त्री को टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज के चेयरमैन पद से हटाया गया है। वहीं टीसीएस और इंडियन होटल्स कंपनी लिमिटेड (जो कि ताज चेन का संचालन करती है) से साइरस मिस्त्री को हटाने के लिए टाटा ने शेयरहोल्डर्स के साथ ईजीएम मीटिंग भी बुलाई है। हालांकि टाटा केमिकल्स के स्वतंत्र निर्देशकों का समर्थन मिलने के बाद बीते गुरुवार को साइरस मिस्त्री को थोड़ा बल मिला है। आपको बता दें कि इंडियन होटल्स के बाद टाट केमिकल्स दूसरी ऐसी कंपनी है जिसके स्वतंत्र निदेशकों ने साइरस का समर्थन किया है।

इशात हुसैन ने संभाली टीसीएस की कमान:

बीते बुधवार रात को टाटा संस ने इशात हुसैन को टीसीएस का नया चेयरमैन नियुक्त कर दिया था। ग्रुप के इस फैसले के बाद ही टीसीएस के शेयर्स में 2 फीसदी तक का उछाल देखने को मिला था। इशात हुसैन को साइरस मिस्त्री की जगह कंपनी के निदेशक मंडल का अध्यक्ष नामित किया गया है।

मिस्त्री के बाद अब नुस्ली वाडिया को टा-टा करने की तैयारी में ग्रुप:

साइरस मिस्त्री को टाटा ग्रुप और टीसीएस के चेयरमैन पद से हटाए जाने के बाद अब टाटा नुस्ली वाडिया को हटाए जाने की तैयारी कर रहा है। इसके लिए टाटा ने शेयरहोल्डर्स की ईजीएम बैठक बुलाई है। टाटा ग्रुप का मानना है कि नुस्ली-मिस्त्री ग्रुप को तोड़ने की मिलीभगत कर रहे थे। जल्द ही टाटा स्टील की ईजीएम भी बुलाई जाएगी।

Posted By: Surbhi Jain

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप