नई दिल्‍ली, ब्रांड डेस्‍क। सॉफ्टवेयर प्रोडक्ट्स इंडस्ट्री में अग्रणी और छोटे व मध्यम व्यवसायों (SMB) के लिए बिज़नेस सॉल्यूशन्स प्रदान करने वाली कंपनी टैली सॉल्यूशंस (Tally Solutions) ने अंतर्राष्ट्रीय MSME दिवस के अवसर पर वैश्विक स्तर पर ‘एमएसएमई ऑनर्स’ (MSME Honours) के दूसरे संस्करण का आयोजन सफलतापूर्वक किया। इस सम्मान समारोह के ज़रिये Tally बुनियादी स्तर पर विविधता, अजेय योगदान और MSMEs के सकारात्मक प्रभाव का जश्न मना रही है।

MSME Honours पूरे देश में मौजूद उन MSMEs को दिया गया, जिन्होंने विभिन्न बिज़नेस के क्षेत्रों में विशेष योगदान दिया है। इसके लिए वैश्विक स्तर पर विभिन्न श्रेणियों में 2000 से अधिक नामांकन भरे गए, जिसकी जांच एक सम्मानित जूरी द्वारा की गई थी, जिसमें रूपरानी, ​​संस्थापक और अध्यक्ष, महिला उद्यमी फोरम, विनोद अग्रवाल, पूर्व अध्यक्ष, गुजरात राज्य परिषद भारतीय उद्योग परिसंघ (CII), निरंजन जैन, अध्यक्ष, MSME और स्टार्ट-अप फोरम और CAIT के राष्ट्रीय महासचिव प्रवीण खंडेलवाल शामिल थे।

MSME Honours को पांच श्रेणियों में बांटा गया है। आइए एक-एक करके सभी श्रेणियों के विजेताओं के बारे में जानते हैं -

Category: Wonder Woman (वंडर-वुमन)

इस श्रेणी में उन महिलाओं को MSME Honours सम्मानित किया गया, जिन्होंने मौजूदा चुनौतियों के बावजूद एक सफल व्यवसाय बनाया और दूसरों के लिए आदर्श बनीं।

गुड़गांव से नेहा केडिया - चकोरी (Chakori)

नेहा केडिया ने 2017 में गुड़गांव में 'चकोरी' (Chakori) शुरू की। चकोरी एक कपड़ा निर्माण यूनिट है, जहां मुख्य रूप से बच्चों और महिलाओं के परिधानों पर काम होता है। उनका संगठन 70% महिलाओं द्वारा चलाया जाता है और उन्होंने जीरो डिफेक्ट और जीरो इफेक्ट (ZED) सर्टिफिकेशन जैसी पहल की शुरुआत की है, जो बेकार कतरन के प्रयोग से रचनात्मक कार्य के लिए एक प्रोत्साहन योजना है।

आगरा से श्रुति कौल - त्रिशूली क्रिएशन (Trishuli Creations)

श्रुति कौल ने 2014 में आगरा में ‘त्रिशूली क्रिएशन्स', जूता निर्माण कंपनी, शुरू किया, जो मिंत्रा, बाटा, रिलायंस आदि जैसे विभिन्न ब्रांडों के लिए महिलाओं के जूते बनाती है। उन्होंने 10 कर्मचारियों के साथ इस मैन्युफैक्चरिंग यूनिट की शुरुआत की, और प्रतिदिन महिलाओं के जूते के 12 जोड़ी बनाती थी। अब वह 80 से अधिक कर्मचारियों के साथ 2 मैन्युफैक्चरिंग यूनिट सफलतापूर्वक चला रही हैं और प्रतिदिन 1200 महिलाओं के जूतों का निर्माण कर रही हैं।

दिल्ली से प्रीति त्रेहन, इशात्वं इंडिया (Ishatvam India)

प्रीति त्रेहन ने अपने पति के साथ इशात्वं इंडिया (Ishatvam India) का अधिग्रहण किया, जिसे 1999 में दिल्ली में स्थापित किया गया था, और कंपनी होम डेकोर और लाइफस्टाइल उत्पादों में डील करती है। प्रीति को आतिथ्य के विभिन्न क्षेत्रों में दो दशकों से अधिक का अनुभव है,उनके नेतृत्व में, कंपनी अखिल भारतीय विस्तार की ओर अग्रसर है।कंपनी ने पिछले वित्त वर्ष के दौरान 20% की वृद्धि की, और इस वित्तीय वर्ष में 50% की वृद्धि की उम्मीद है।

भोपाल से नित्या तलरेजा, एचएलबीएस टेक (HLBS Tech)

नित्या तलरेजा आईटी हार्डवेयर उत्पादों के निर्माण से जुड़ी हुई हैं। मजबूत लीडरशिप क्वालिटी और जोखिम लेने की क्षमता उनमें है, जिस कारण उन्होंने व्यवसाय का विस्तार किया और वर्तमान में मध्य प्रदेश में बने कंप्यूटरों की आपूर्ति भारत में ही नहीं, बल्कि अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में भी किया।

बाराबंकी से अंजलि सिंह, गणपति कृषि व्यवसाय (Ganpati Agri Business)

अंजलि सिंह ने 2009 में राइस ब्रैन की ट्रेडिंग में अपने बिज़नेस यात्रा की शुरुआत की और बाद में 2011 में यूपी के बाराबंकी में गणपति एग्री-बिज़नेस प्राइवेट कंपनी प्रारंभ किया। आज उनकी कंपनी राइस ब्रैन तेल, सरसों का तेल और अन्य मवेशी और पोल्ट्री फीड सामग्री का निर्माण कर रही है।

भुवनेश्वर से सस्मिता रानी सामंत, सस्टेनेबल आउटरीच और यूनिवर्सल लीडरशिप (Sustainable Outreach And Universal Leadership)

प्रो. सस्मिता रानी सामंत ने भुवनेश्वर में 2021 में सस्टेनेबल आउटरीच और यूनिवर्सल लीडरशिप, एक बिजनेस कंसल्टिंग फर्म की शुरुआत की। वह राष्ट्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी उद्यमिता विकास बोर्ड द्वारा समर्थित, KIIT विश्वविद्यालय की एक पहल, KIIT टेक्नोलॉजी बिजनेस इनक्यूबेटर के निदेशकों में से एक हैं।

Category: Business Maestro (बिजनेस उस्ताद)

इस श्रेणी में उन दिग्गजों को MSME Honours से सम्मानित किया गया, जिन्होंने व्यवसाय को लगातार फलने-फूलने और बढ़ाने के लिए एक मजबूत और टिकाऊ नींव का निर्माण किया।

लुधियाना से जसमेल सिंह, सहयोग इंटरप्राइजेज (Sehyog Enterprises)

लुधियाना के बिजनेसमेन जसमेल सिंह ने 2004 में बुनाई और बुनाई उद्योग द्वारा उपयोग किए जाने वाले पैकेज और हैंक्स के रूप में सभी प्रकार के कॉटन और ब्लेंडेड यार्न के लिए एक रंगाई और प्रोसेसिंग यूनिट के रूप में अपना व्यापार शुरू किया। उनकी कंपनी विश्व स्तर पर उपलब्ध सभी प्रकार के प्राकृतिक और सिंथेटिक फाइबर को भी रंगती है।

लुधियाना से प्रमोद गुप्ता और राजन मित्तल, ऑटो इंटरनेशनल (Auto International)

2001 में ऑटो इंटरनेशनल का परिचालन लुधियाना में शुरू किया गया । यह फोर्जिंग उद्योग में एक प्रसिद्ध नाम है। इस कंपनी ने ट्रैक्टर उद्योग में ग्राहकों की आवश्यकता को पूरा करने के लिए छोटी शुरुआत की, अब ये रेलवे, कृषि, निर्माण उपकरण, रक्षा, भारी वाणिज्यिक वाहनों आदि सहित कई क्षेत्रों की जरूरतों को पूरा करते हैं।

गाजियाबाद से अभिलाष पांडे, AOS उत्पाद (AOS Products)

AOS Products Pvt. Ltd. गाजियाबाद स्थित एक कंपनी है, जो विश्व स्तर पर कुल 120 प्रसिद्ध उत्पादों के पोर्टफोलियो के साथ एसेंशियल ऑयल बनाती है। यह कंपनी ईपी/यूएसपी/आईपी/बीपी (EP/ USP/ IP/ BP) जैसे विभिन्न फार्माकोपिया का अनुपालन करने वाले एसेंशियल और कैरियर ऑयल्स के सबसे बड़े निर्माताओं में से एक के रूप में जानी जाती है। यह कंपनी प्रकृति की शक्ति का उपयोग करती है और कीटनाशकों और दूषित पदार्थों से मुक्त प्रोडक्ट्स बनाती है।

गुड़गांव से आदित्य मेहरा, एनजीएलसी रियलटेक (NGLC Realtech)

NGLC Realtech Pvt. Ltd. गुड़गांव स्थित टर्नकी कंस्ट्रक्शन कंपनी है, जिसे ग्राहकों को अधिक पारदर्शिता, विश्वास और तकनीकी ज्ञान के लिए 2013 में शुरू किया गया था। 2014 में 450,000+ वर्ग फुट में 2 लोगों के साथ शुरू की गई यह कंपनी आज 75 से ज्यादा लोगों की कंपनी बन गई है।

दिल्ली से संजीव कोहली, इंडस इंडस्ट्रीज (Indus Industries)

इंडस इंडस्ट्रीज 1983 में स्थापित एक दिल्ली स्थित कंपनी है, जो टायर फ्लैप बनाती है और टायर फ्लैप के कंटेनर लोड का निर्यात करती रहती हैं। इस कंपनी को गर्व है कि ये अपने कस्टमर्स को कम कीमत पर सर्वोत्तम गुणवत्ता प्रदान करती है और अपने उत्पादों को लगातार अपडेट करती है, चाहे नए आकार पेश करना हो या रेडियल फ्लैप विकसित करना हो या फिर ट्यूबलेस सीलिंग फ्लैप विकसित करना हो।

डिब्रूगढ़ से राजन लोहिया, मनोहरी टी रिट्रीट (Manohari Tea Retreat)

यह रिट्रीट चाय बागानों की समृद्ध हरियाली के बीच डिब्रूगढ़ के मध्य में स्थित है। पर्यटकों को बेहतर अवकाश गृह प्रदान करने के अलावा, राजन लोहिया की कंपनी ने 'मनोहारी गोल्ड' चाय बनाकर इतिहास रचा है, जिसकी दुनिया भर के किसी भी चाय नीलामी केंद्र में से उच्चतम कीमत मिलती है। इस चाय की उत्तम गुणवत्ता के कारण असम चाय उद्योग वैश्विक स्तर पर नई उचाईयों पर है।

बालासोर से चंद्र प्रकाश भरतिया, जगदंबा पॉलिमर्स (Jagdamba Polymers)

ये कंपनी 300 से अधिक उत्पादों का निर्माण करती है और अपने पोर्टफोलियो में लगातार नए सेगमेंट्स जोड़ रही है। आज यह कंपनी तेजी से आगे बढ़ रही है और इसकी वजह इनके उत्पाद की गुणवत्ता है। आज यह कंपनी सफल है तो इसके पीछे ब्रांड निर्माण, मजबूत मार्केटिंग और सेल्स टीम, सोशल मीडिया के जरिए ग्राहकों से जुड़ना, सम्मेलन, समय-समय पर मीटिंग और पैन इंडिया मार्केट एक्सपेंशन का महत्वपूर्ण योगदान है।

राउरकेला से यशराज अग्रवाल, के ए आई इंटरनेशनल (K A I International)

ये कंपनी मेटल और मिनरल (पेट्रोलियम को छोड़कर) मरचेंट होलसेलर्स इंडस्ट्री का एक हिस्सा है। ये क्वालिटी कस्टमर्स सर्विस के लिए अपनी सफलता पर गर्व करते हैं, जो करुणा, ग्राहकों के हितों के प्रति प्रतिबद्धता और जवाबदेही पर ध्यान केंद्रित करती है। इसके अतिरिक्त, ये कर्मचारियों के साथ अपने सक्रिय संपर्क को प्रेरणा का निरंतर स्रोत मानते हैं, जिसके परिणामस्वरूप बेहतर सफलता मिलती है।

Category: NextGen Icon (NextGen आइकॉन)

इस श्रेणी में ऐसे बिजनेस लीडर्स को सम्मानित किया गया, जिन्होंने मौजूदा समाधानों के लिए एक बेहतर विकल्प प्रदान करके गैप को भरने का काम किया है।

नोएडा से अंकित शर्मा, एयरिफिक सिस्टम्स (Airific Systems)

नोएडा के इस बिज़नेस को 2020 में महामारी के दौरान अपना खुद का व्यवसाय संचालन शुरू करने का अवसर मिला। ऑफिसेस और कमर्शियल स्पेस में उपयोग होने वाला सेंट्रल एयर कंडीशनिंग सिस्टम आम तौर पर पहुंच योग्य नहीं होता है और बैक्टीरिया व गंदगी से भरा होता है। ऐसे में AC को बंद करना बिल्कुल संभव नहीं है। इस गैप को देखते हुए, एयरिफिक सिस्टम्स ने पावरफुल कंट्रोल और मॉनिटरिंग फीचर्स के साथ सेन्ट्रलाइज़्ड AC को साफ करने के लिए एक अल्ट्रावायलेट गर्मीसदल इररेडिएशन (Ultraviolet Germicidal Irradiation) प्रोडक्ट विकसित किया। बहुत कम समय में अंकित शर्मा की कंपनी ने भारत में 10,000 से अधिक इकाइयां स्थापित की हैं।

पौंटा साहिब से जसविंदर पाल सिंह, ईईएम के ग्रीन्स (EEM Kay Greens)

पौंटा साहिब में स्थित यह बिजनेस कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री के लिए ACC ब्लॉकों का निर्माण करता है। कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री में बड़े पैमाने पर इस्तेमाल की जाने वाली ईंटें प्रदूषण का एक बड़ा स्रोत हैं। ऐसे में पर्यावरण के अनुकूल विकल्प प्रदान करने के लिए इस कंपनी ने 2021 में ACC ब्लॉकों का निर्माण शुरू किया।

दिल्ली से नमन जी डूंगरवाल, जीफ्रेश एग्रोटेक (Gfresh Agrotech)

दिल्ली की इस कंपनी को 2019 में स्थापित किया गया था। यह कंपनी किसानों के लिए काम करने के मिशन पर है। इसके लिए कंपनी ने एक ऐप बनाया है, ताकि किसान अपनी कृषि उपज को ऑनलाइन बेच सके। अब तक कंपनी 40,000 से अधिक किसानों को अपने साथ जोड़ने में सफल रही है और 80,000 मीट्रिक टन से अधिक कृषि उपज सोर्स किया है।

फरीदाबाद से नवमिता सेराफिम और हेमंत माइकल सेराफिम, इनसाइट मैनेजमेंट सॉल्यूशन्स (Insight Management Solutions)

फरीदाबाद का यह व्यवसाय करेंसी हैंडलिंग उपकरण में माहिर है और बैंकिंग क्षेत्र में समाधान प्रदान करता है। ये ऑपरेशन को आसान बनाने के लिए अपने उपकरण किराए पर देते हैं, जिससे पूंजीगत व्यय और रखरखाव व्यय शून्य हो जाता है।

गोवा से राम दौलतानी, कैरी योर बॉटल (Carry Your Bottle)

गोवा के इस बिजनेस की स्थापना 2017 में विशेष रूप से पर्यटकों द्वारा सिंगल यूज प्लास्टिक वॉटर बॉटल के उपयोग को रोकने के लिए की गई थी। इनका उद्देश्य पानी के TDS, pH, और तापमान को बनाए रखते हुए पानी के रिफिल पॉइंट स्थापित करके पीने के पानी की डिलीवरी को डिसेंट्रलाइज करना है। रियूजेबल बॉटल को बढ़ावा देने के बाद राम दौलतानी ने गोवा में कचरे तक पहुंचने वाली प्लास्टिक की बॉटल्स को कम करने में कामयाबी हासिल की है।

ब्रह्मपुर से जगन्नाथ पाणिग्रही, आर के टेक्सटाइल (R K Textile)

ब्रह्मपुर के इस थोक कपड़ा व्यवसाय को 2017 में कीमत और गुणवत्ता को लेकर कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ा, क्योंकि यह बिज़नेस सिंगल टेक्सटाइल मार्केट पर बहुत अधिक निर्भर था। इस समस्या को दूर करने के लिए जगन्नाथ पाणिग्रही की कंपनी ने ना केवल स्वयं कच्चा माल का चयन किया, बल्कि उसका डिजाइन भी तैयार किया और आरके साड़ियों के ब्रांड नाम से अपने उत्पादों के निर्माण की आवश्यकता की पहचान की। बता दें कि प्रीमियम गुणवत्ता, अद्वितीय डिजाइन और किफायती कीमतों के कारण आज इनके उत्पादों की इस क्षेत्र में अत्यधिक मांग है।

भुवनेश्वर से गुरुकृष्ण महापात्रा, ऑक्वेल सॉल्यूशन्स (Accveil Solutions)

भुवनेश्वर में 2018 में शुरू हुए Accveil Solutions Pvt Ltd ने शहर में एक विश्वसनीय टेक्निकल असिस्टेंट प्रोवाइडर की कमी देखी जबकि उसकी मांग बढ़ रही थी। कंपनी ने मार्केट में इस गैप को देखा, जिसके बाद उन्होंने क्लाउड सर्विस प्रोवाइडर होने के साथ-साथ जरूरी टेक्नोलॉजी प्रोडक्ट और सर्विस प्रदान करना शुरू किया। अत्यधिक कुशल तकनीकी सहयोगियों की एक टीम के साथ यह कंपनी लोकल सॉल्यूशन्स और सीमलेस कस्टमर सर्विस के साथ कई व्यवसायों को सपोर्ट करती है।

Category: Digital Transformer (डिजिटल ट्रांसफॉर्मर)

इस श्रेणी में उन बिजनेस लीडर्स को सम्मानित किया गया, जिन्होंने डिजिटल टूल्स और सॉल्यूशन्स को अपनाकर आगे बढ़ने के नए तरीके सीखे।

मंडी से वैभव कुमार अग्रवाल, नोरेक्स फ्लेवर (Norex Flavours)

मंडी धनौरा स्थित कंपनी Norex Flavours Pvt. Ltd.की स्थापना 1994 में हुई थी। कंपनी ने एम्प्लॉइई लीव ट्रैकिंग, प्रोसेस वेयर का कार्यान्वयन, रिमोट एक्सेस और डेटा टनल के लिए स्थापित सर्वर, रिसीवेबल्स के लिए टाइम पे, एक ई-कॉमर्स वेबसाइट www.norexmart.com लॉन्च किया, ऑटोमेटेड ऑर्डर एक्नॉलेजमेंट और ग्राहकों को डिस्पैच इंटीमेशन और अन्य चीजों का डिजिटलीकरण किया। ग्राहकों, डीलरों, भागीदारों और कर्मचारियों सहित 1500 लोगों का इनका पूरा इकोसिस्टम इस परिवर्तन से लाभान्वित हुआ है।

श्रीनगर से परवेज अहमद अहंगर, कॉसमॉस हाउस (Cosmos House)

Cosmos House की स्थापना 1972 में श्रीनगर में हुई थी और ये घरेलू और रसोई उपकरणों के व्यवसाय में हैं। इस कंपनी ने वेबसाइट के माध्यम से बिज़नेस मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर, ईमेल, व्हाट्सएप कम्यूनिकेशन ऑनलाइन सेल्स को अपनाया और वर्तमान में यह कंपनी बिक्री, खरीद, सेवा, भुगतान और संचालन हर चीज डिजिटल रूप से प्रबंधित कर रही है।

इंदौर से धीरज सावलानी, धीरज प्लाई और वनीर (Dheeraj Ply & Veneer)

धीरज प्लाई और वनीर की स्थापना 2009 में इंदौर में की गई थी। यह कंपनी प्लाईवुड, लेमिनेट और वनीर के बिज़नेस में है। कंपनी ने अपने उत्पादों को बहुत ही रचनात्मक तरीके से प्रदर्शित करने के लिए इंस्टाग्राम और फेसबुक का उपयोग करते हुए सोशल मीडिया मार्केटिंग को अपनाया है। इसके अलावा ऑनलाइन उपस्थिति ने कंपनी की पूरे भारत में अपने मटेरियल्स की आपूर्ति के लिए मदद की है।

पटना से गौतम सिद्धार्थ सिंह, राम प्यारी देवी फाउंडेशन फॉर एजुकेशन वेलफेयर (Ram Pyari Devi Foundation For Education Welfare)

कंपनी ने अपने इवेंट्स को प्रसारित करने के लिए इंस्टाग्राम, फेसबुक और गूगल जैसे सोशल मीडिया चैनलों को अपनाया और ऑनलाइन क्लासेस के लिए अलग-अलग ऐप की सहायता ली। डिजिटल टेक्नोलॉजी को अपनाने से कंपनी को अपना प्रभाव बढ़ाने और कम्यूनिटी के बीच पहुंच बनाने में मदद मिली। 2019 में इनके छात्रों की संख्या 200 थी जो 2022 में बढ़कर लगभग 450+ हो गई है।

कानपुर से अरविंद परिदा, अनुराधा ऑटोमेशन (Anuradha Automation)

अनुराधा ऑटोमेशन की स्थापना 2010 में कानपुर में हुई थी। यह एक इलेक्ट्रिकल कंट्रोल पैनल मैन्युफैक्चर कंपनी है। IoT सॉल्यूशन्स का उपयोग करते हुए उन्होंने अपने प्रोसेस को कस्टमाइज किया है। इसके अलावा, कंपनी ने PLC (प्रोग्रामेबल लॉजिक कंट्रोलर) अनुकूलित सॉफ्टवेयर को आंतरिक रूप से सभी कार्यों को अनुक्रमित करने के लिए अपनाया है जो कर्मचारियों की उत्पादकता को बढ़ाता है।

Category: Champion of Cause (समाज के लिए काम करने वाले चैंपियन)

इस श्रेणी में उन उद्यमियों को MSME Honours से सम्मानित किया गया, जो समाज में ज़रूरतमंदो के लिए आगे बढ़कर काम कर रहे हैं।

टांडा से अनुराग विश्वकर्मा, विश्वकर्मा ऑक्सीजन डिस्ट्रीब्यूटर

टांडा के इस बिज़नेस ने महामारी के दौरान 60 दिनों से अधिक समय तक अपना ऑक्सीजन प्लांट 24*7 चलाया और कोरोना से ग्रसित रोगियों को मुफ्त में ऑक्सीजन प्रदान किया। कंपनी ने कई कोविड पॉजिटिव रोगियों के इलाज की लागत का भी ध्यान रखा।

लुधियाना से विक्रम मधोक, मधोक एंटरप्राइजेज (Madhok Enterprises )

लुधियाना का यह बिज़नेस विशेष रूप से ऑटो उद्योग द्वारा इस्तेमाल किए गए और बेकार टायरों को रिसाइकिल करके क्षेत्र में औद्योगिक प्रदूषण की समस्या का सॉल्यूशन्स प्रदान करता है। कंपनी ने शहर में रिसाइकिल की गई टायरों में कई पेड़ लगाए हैं, जिससे क्षेत्र में हरियाली और वृक्षारोपण में सुधार हुआ है।

फरीदाबाद से ओमप्रकाश बंसल, ट्यूब सेल्स कॉर्पोरेशन (Tube Sales Corporation)

ट्यूब सेल्स कॉर्पोरेशन 1989 में स्थापित एक फरीदाबाद स्थित कंपनी है। कंपनी अपने संसाधनों का उपयोग सामाजिक विकास के लिए करती है जैसे कि आयुर्वेदिक चिकित्सा शिविर, प्रकृति उपचार शिविरों की मुफ्त व्यवस्था करना। कंपनी ने ऑक्सीजन की आपूर्ति के साथ कोविड रोगियों की सहायता की है। ये जरूरी वैक्सीनेशन के साथ ज़रूरतमंदो की सहायता भी करते हैं।

हरिद्वार से हरिंद्र कुमार गर्ग, मनहारी पॉवरटेक प्राइवेट लिमिटेड (Manhari Powertech Pvt. Ltd.)

Manhari Powertech Pvt. Ltd. एक हरिद्वार स्थित संगठन है जो समावेशी विकास सुनिश्चित करने के लिए युवाओं को बेहतर शर्तों के साथ रोजगार के अवसरों के लिए इनबाउंड ग्रोथ और हैंड होल्डिंग प्रदान करके उन्हें ट्रेंड और अपग्रेड कर रहा है।

बिलासपुर से प्रकाश सोंथालिया, होटल गीता (Hotel Geeta)

बिलासपुर का यह बिज़नेस कई सामुदायिक सेवाओं में सक्रिय रूप से शामिल रहा है, जिसमें ग्लोबल वार्मिंग के बारे में लोगों को जागरूक करना और 22,000 से अधिक पेड़ लगाने से लेकर जल संचयन, पानी बचाने और प्लास्टिक का इस्तेमाल ना करने जैसी पहल शामिल है। कंपनी ने महामारी के दौरान कई राहत कार्यों में अपना योगदान दिया है और सैकड़ों रोगियों व हजारों बेसहारा लोगों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डाला है।

बिलासपुर से संदीप गुप्ता, पिनेकल डिजाइन एरिना (Pinnacle Design Arena)

बिलासपुर के इस बिज़नेस के ज़रिए संदीप गुप्ता सामुदायिक रसोई चलाते हैं, जहां वे प्रतिदिन लगभग 400 लोगों को 10 रुपये में खाना खिलाते हैं। संदीप लगभग 100 छात्रों और झुग्गी-झोपड़ी के बच्चों को मुफ्त शिक्षा भी प्रदान करते हैं। महामारी के दौरान भी उन्होंने मरीज़ो और कई अन्य लोगों को भोजन के पैकेट, भोजन की आपूर्ति, ऑक्सीजन की आपूर्ति, अस्पताल के लिए बिस्तर की व्यवस्था आदि कामों के लिए अपनी मदद दी।

पटना से अर्चना जैन, सर्वोत्तम सेल्स (Sarvottam Sales)

सर्वोत्तम सेल्स 2007 में स्थापित पटना स्थित एक संगठन है, जो कई तरह की सामाजिक कार्य करती है, जैसे, ज़रूरतमंदो को पुराने कपड़े देना, प्रोस्थेटिक दान, त्रि-रिक्शा और खाद्य आपूर्ति प्रदान करना।

पटना से बिनोद तोड़ी, श्रृंगारम (Shringaram)

श्रृंगारम पटना स्थित एक कंपनी है, जिसकी स्थापना 1992 में हुई थी। ये हमेशा ज़रूरतमंदो की मदद करते हैं और उनका प्रमुख योगदान एक निजी अस्पताल में नेत्र जांच शिविर का आयोजन था, जहां मुफ्त में मोतियाबिंद ऑपरेशन किए गए थे। इसके संस्थापक समुदाय का समर्थन करने के लिए अन्य चैरिटेबल संगठनों के साथ जुड़े हुए हैं।

पटना से मुकेश हिसरिया, शिवा सेल्स (Shiva Sales)

संगठन ने ज़रूरतमंदो की सहायता के लिए अलग-अलग तरह की एक्टिविटी का आयोजन किया है, जैसे कि भारत में कहीं से भी, किसी भी समय रक्त, प्लेटलेट्स और प्लाज्मा की आवश्यकता वाले लोगों के लिए एक वर्चुअल ब्लड बैंक। ये सक्रिय रूप से थैलेसीमिया पर जागरूकता फैलाने और उन बच्चों की मदद करने का भी कार्य करते हैं, जिन्हें बीमारी के प्रभाव को कम करने के लिए दवा की आवश्यकता होती है। महामारी के दौरान, इन्होंने ज़रूरतमंदो के लिए भोजन की निरंतर आपूर्ति के साथ-साथ मुफ्त राशन और दवाओं, कोविड से मृत रोगियों के पीड़ितों के लिए अंतिम संस्कार सहायता, ऑनलाइन मुफ्त ओपीडी परामर्श और कोविड रोगियों के लिए प्लाज्मा दान पर जागरूकता की व्यवस्था करने में मदद की।

पटना से अंजनी कुमार सुरेका, टुडे स्ट्रैटेजिक मार्केटिंग कंपनी (Today's Strategic Marketing Company)

Today's Strategic Marketing Company पटना स्थित संगठन है। ये समय-समय पर गरीबों के लिए भोजन और सूखे राशन की व्यवस्था करने के लिए स्थानीय संगठनों के साथ सहयोग करते हैं और ज़रूरतमंदो के लिए मुफ्त रक्त उपलब्ध कराने के प्रयास भी करते हैं। इन्होंने गर्मियों में पीने के पानी की बेहतर आपूर्ति और सर्दियों में कंबल वितरण सुनिश्चित करने में भी योगदान दिया है।

पटना से उषा झा, पेटल्स क्राफ्ट (Petals Craft)

पेटल्स क्राफ्ट पटना स्थित एक संस्था है। ये हमेशा ज़रूरतमंदो के लिए भोजन और कपड़ों की मदद के लिए उपलब्ध रहते हैं। महामारी के दौरान, इन्होंने बहुत सारी गरीब लड़कियों को रोजगार दिए और उन्हें मिथिला कला के साथ ट्रेनिंग और काम दिया है।

Tally इन अभूतपूर्व व्यपारी और उनके जैसे कई अन्य लोगों के योगदान को सलाम करता है जिन्होंने अपनी नवीन सोच और बिजनेस बढ़ाने के समाधान के साथ व्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और लोगों (कर्मचारियों और ग्राहकों) के जीवन को बदल दिया है, और अर्थव्यवस्था को बड़े पैमाने पर चलाते हुए जुड़ने वाले समुदायों का निर्माण किया है। सम्मानित और अन्य विजेताओं के बारे में अधिक जानकारी के लिए https://tallysolutions.com/msme-honours/ पर जाएं।

Edited By: Manish Mishra