नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। सस्ती विमानन सेवा देने वाली कंपनी स्पाइसजेट का मुनाफा दिसंबर तिमाही में 77.1 फीसद कम हो गया। कंपनी ने इसके पीछे क्रूड ऑयल के दाम में तेजी और विदेशी मुद्रा के नुकसान को जिम्मेदार ठहराया है। एयरलाइन का शुद्ध लाभ दिसंबर में समाप्त तिमाही में 550.7 मिलियन ($ 7.74 मिलियन) रहा, जो एक साल पहले 2.40 बिलियन था।

इस दौरान यात्रियों की संख्या और किराया आठ फीसद बढ़ा। एयरलाइन नियामक के अनुसार, दिसंबर तिमाही में स्पाइसजेट की तीसरी सबसे बड़ी बाजार हिस्सेदारी थी, जिनमें पिछले तीन महीनों से कोई बदलाव नहीं हुआ था।आज बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में स्पाइसजेट का शेयर +2.42% फीसद की उछाल के साथ 78.40 पर बंद हुआ।

एयरलाइन ने एक साल पहले की अवधि में 240 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। इस तिमाही में स्पाइस जेट की कुल आय 2,530.8 करोड़ रुपये रही, जो कि इसी अवधि की समान तिमाही में 2,096.1 करोड़ रुपये थी।

स्पाइसजेट के चेयरमैन अजय सिंह ने कहा कि एयरलाइन हमारी महत्वाकांक्षी विकास योजनाओं को आगे बढ़ाने के लिए तत्पर है क्योंकि यह पहले ही नई उड़ानें पेश करती है, इसके अलावा सरकार की क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना का नेतृत्व करती है, साथ ही नए विमानों को शामिल करती है और हमारी लागतों को नियंत्रण में रखते हुए नए विकास के रास्ते तलाशती है।

एयरलाइन के मुताबिक चालू वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर तिमाही में इसका औसत किराया 25 फीसद तक बढ़ाया गया जबकि रिपोर्टिंग तिमाही में इसका पैसेंजर लोड फैक्टर 91.6 फीसद रहा। स्पाइसजेट ने उड़ान स्कीम के तीसरे राउंड के तहत 36 नए सेक्टर में 54 नई उड़ानें शुरू कीं।

Posted By: Nitesh