नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (पीएमकेवीवाई) के तहत सर्टिफिकेट लेने वाले युवाओं को स्किल इंडिया मिशन ने दो तोहफे देने की घोषणा की है। जिनमें पहला दो लाख रुपए का व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा और दूसरा डिजिटल लॉकर की सुविधा। बीमा तीन साल के लिए होगा। जबकि ट्रेनिंग पूरी करने के बाद युवाओं को स्किल सर्टिफिकेट डिजिटल लॉकर में ही दिया जाएगा।

कौशल बीमा मुहैया कराने के लिए न्यू इंडिया इंश्योरेंस कंपनी से गठजोड़ किया गया है। इसके तहत ट्रेनिंग पूरी करने वाले युवाओं की दुर्घटना में मृत्यु या स्थायी विकलांगता का बीमा कवर दिया जाएगा। यह बीमा स्किल सर्टिफिकेट की तारीख से तीन साल के लिए प्रभावी होगा। बीमा का प्रीमियम एनसीडीसी भरेगा। बीमाकर्ता की शिकायतों को दूर करने के लिए एनआईए की ओर से एक टोल-फ्री हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया जाएगा।

बता दें कि प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (पीएमकेवीवाई) के तहत युवाओं को उद्योगों से जुड़ी ट्रेनिंग मिलती है ताकि उन्हें आसानी से रोजगार मिल सके। इसमें ट्रेनिंग की फीस सरकार भरती है। मालूम हो कि स्किल इंडिया के तहत ट्रेनिंग पूरी करने वाले युवाओं को डिजिटल लॉकर के जरिए सर्टिफिकेट दिया जाएगा। इसे एप या वेब पोर्टल से डाउनलोड किया जा सकेगा।

डिजिटल लॉकर क्या है?

डिजिटल लॉकर में दस्तावेज और सर्टिफिकेट डिजिटल रूप में जारी किए जा सकते हैं और इनका ऑनलाइन सत्यापन किया जा सकता है। इस सुविधा से आपको अपने साथ कोई दस्तावेज या सर्टिफिकेट साथ लेकर चलने की जरूरत नहीं होती।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitesh