नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंम्प ने ट्वीट के जरिए अमेरिका के विदेश मंत्री के बदलने की जारी दी यही कारण था कि मंगलवार को अमेरिका और यूरोप के शेयर बाजार में गिरावट देखने को मिली। वहीं आज सुबह तमाम एशियाई बाजार भी लाल निशान में कारोबार कर रहे हैं। सिंगापुर निफ्टी करीब 34 अंक की गिरावट के साथ 10394 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। ऐसे में आज भारतीय शेयर बाजार की शुरुआत भी कमजोर रहने की आशंका है।

दुनियाभर के शेयर बाजारों में गिरावट का कारण अगर सिर्फ अमेरिका को कहा जाए तो शायद गलत नहीं होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि सोमवार को अमेरिका और यूरोप के बाजार जिस चिंता में घुले वह अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसर की कुर्सी जाने की थी। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक ट्वीट के जरिए यह जानकारी दी की माइक पोम्पिओ नए सेक्रेटरी ऑफ स्टेट (विदेश मंत्री) होंगे। 

माइक पोम्पिओ अब तक सीआइए के डायरेक्टर थे। उनके विदेश मंत्री बनने के बाद यह संभावना है कि ट्रम्प की नीतियों को और बढ़ावा मिलेगा जिसके बाद यूरोप, कोरिया और अन्य देशों से अमेरिका के संबंधों में बड़े बदलाव आएंगे। सोमवार को अमेरिका और यूरोप के बाजार गिरने का बड़ा कारण यही रहा।

अब बात एशियाई बाजारों की

एशिया के बाजारों की बात करें तो करीब 8:15 बजे जापान का इंडेक्स निक्केई 227 अंक की गिरावट के साथ 21740 के स्तर पर है। वहीं शंघाई औौर हैंगसैंग 382 अंक की गिरावट के साथ कारोबार कर रहा है। तायवान का इंडेक्स कोस्पी भी 13 नीचे 2480 के स्तर पर है। एशियाई बाजार में गिरावट का कारण भी अमेरिकी बाजार में आई बिकवाली ही है। इसके अलावा चीन के बाजार में एक बड़ी चिंता अमेरिका की तरफ से करीब 200 उत्पादों पर टैक्स लगाने और निवेश पर रोक लगाने की आशंका के चलते है। ऐसा हुआ तो दुनियाभर में ट्रेड वार की चिंता और गहराती नजर आएगी, जो चीन समेत दुनियाभर के बाजारों के लिए नकारात्मक संकेत है। 

Posted By: Shubham Shankdhar