नई दिल्ली। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (स्टेट बैंक ऑफ इंडिया) की प्रमुख अरुंधती भट्टाचार्य ने कहा कि कुछ लोन पर कर्जमाफी की योजनाएं लोन लेने वालों के क्रेडिट अनुशासन को प्रभावित कर सकती है। गौरतलब है कि हाल ही में संपन्न हुए उत्तर प्रदेश चुनाव से पहले भाजपा ने वादा किया था अगर वो सत्ता में आते हैं तो वो राज्य में किसानों के लिए कर्ज माफी योजनाएं लाएंगे।

भट्टाचार्य ने बुधवार को भारतीय उद्योग परिसंघ की ओर से आयोजित एक समारोह के दौरान कहा, “हमें लगता है कि (खेत) ऋण माफी के मामले में हमेशा ऐसा होता है कि क्रेडिट अनुशासन में गिरावट आती है, क्योंकि जिन लोगों को छूट मिलती है, उन्हें भविष्य में भी छूट का इंतजार रहता है। ऐसे में दिए गए लोन अक्सर अनपेड रह जाते हैं। आज लोन वापस आ जाएगा क्योंकि सरकार इसके लिए भुगतान कर देगी, लेकिन जब हम फिर से लोन देंगे तो किसान एक बार फिर से माफी के लिए चुनाव का इंतजार करेंगे।”

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कृषि ऋण को माफ करने के लिए बैंक को कोई प्रस्ताव नहीं मिला है। भट्टाचार्य ने कहा कि हालांकि किसानों का समर्थन करना महत्वपूर्ण है, लेकिन यह उन तरीकों से किया जाना चाहिए, जो उनके बीच क्रेडिट अनुशासन को बाधित नहीं करे।

Posted By: Praveen Dwivedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप