नई दिल्ली, टेक डेस्क। Retail Inflation Data: भारत ही नहीं पूरी दुनिया महंगाई की चपेट में है। पिछले कुछ माह से खुदरा महंगाई दर में लगातार इजाफा दर्ज किया जा रहा था। सड़क से लेकर संसद तक महंगाई के मुद्दे को लेकर विपक्षी दल आंदोलन कर रहे थे। लेकिन जुलाई माह में महंगाई के मोर्चे पर जनता को राहत मिली है। खासकर आंकड़े तो यही कहानी बयां करते हैं।

खुदरा महंगाई दर में गिरावट 

अगर जुलाई माह में आंकड़ों की बात करें, तो खाद्य महंगाई दर में गिरावट दर्ज की गई है। मतलब जुलाई माह में खाने-पीने की चीजों की औसत दाम कर रहे हैं। इस दौरान कच्चे तेल और कमोडिटी प्रोडक्ट के दाम में कमी दर्ज की गई। यही वजह रही, जिससे जुलाई 2022 में खुदरा महंगाई दर (Consumer Price Index) ने पिछले चार माह के रिकार्ड को तोड़कर सबसे निचले पायदान पर पहुंच गई है। 

जुलाई में खुदरा महंगाई दर 7 फीसद से नीचे 

खुदरा महंगाई दर जुलाई माह में 7 फीसदी के नीचे जा पहुंची है। बता दें कि जुलाई में जहां खुदरा महंगाई दर 6.71 फीसद रही है जबकि जून में 7.01 फीसदी रही थी। वही एक माह पहले मई में खुदरा महंगाई दर में 7.04 फीसद थी। इससे एक माह पहले अप्रैल में खुदरा महंगाई दर 7.79 फीसदी रही थी। इसके बाद जुलाई महीने में खाद्य महंगाई दर (Food Inflation) में कमी दर्ज की गई है।

खुदरा महंगाई दर में गिरावट

अगर पिछले चार माह की बात की जाएं, तो पहली बार खुदरा महंगाई दर में गिरावट दर्ज की गई है। जुलाई माह में खाद्य महंगाई दर 7 फीसद से नीचे चली गई है।

  • अप्रैल 2022 - 7.79 फीसद
  • मई 2022 - 7.04 फीसद
  • जून 2022 - 7.01 फीसद
  • जुलाई 2022 - 6.71 फीसद

Edited By: Saurabh Verma