नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने शुक्रवार को कहा कि चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में उसका शुद्ध लाभ 41.5 प्रतिशत बढ़ा और इस दौरान तेल, खुदरा तथा दूरसंचार व्यवसायों का प्रदर्शन अच्छा रहा। कंपनी ने शेयर बाजार को बताया कि पिछले साल अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में उसका शुद्ध लाभ 18,549 करोड़ रुपये रहा, जो इससे पिछले वर्ष की समान अवधि में 13,101 करोड़ रुपये था। O2C व E&P बिजनेस में मजबूत वृद्धि देखने को मिली तो उधर जियो और रिटेल बिजनेस ने भी शानदार तिमाही नतीज पेश किए। जियो और रिटेल के यह अब तक के सबसे बेहतरीन नतीजे हैं।

कंपनी के नतीजों पर खुशी जाहिर करते हुए रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा “रिलायंस ने वित्त वर्ष 2022 की तीसरी तिमाही में शानदार प्रदर्शन किया है। हमने अपने सभी व्यवसायों के मजबूत योगदान के साथ रिकॉर्ड ऑपरेटिंग रिजल्ट्स दिए हैं। त्योहारों के मौसम और तालाबंदी में ढील की वजह से खपत में मजबूत वृद्धि के साथ रिटेल बिजनेस की गतिविधि सामान्य हो गई है। हमारे डिजिटल सेवा व्यवसाय ने भी व्यापक, टिकाऊ और लाभदायक बढ़ोतरी दर्ज की है।”

रिलायंस का O2C बिजनेस जिसे परंपरागत रूप से कंपनी के मुनाफे की रीढ़ माना जाता था उसमें उल्लेखनीय सुधार दिखाई दिया है। O2C बिजनेस का EBITDA 38.7% (YoY) बढ़कर 13,530 करोड़ जा पहुंचा है। बेहतर मूल्य निर्धारण और उत्पादन में सुधार के दम पर E&P व्यवसाय ने भी उच्चतम EBITDA 2,033 करोड़ दर्ज किया है। दिसंबर '21 तिमाही के दौरान उत्पादन 53.3 बिलियन क्यूबिक फुट रहा, जबकि औसत KGD6 प्राकृतिक गैस की कीमत एक साल पहले की अवधि से 74% ऊपर थी।

जियो प्लेटफॉर्म्स लिमिटेड के तहत डिजिटल सेवाओं के कारोबार ने भी जोरदार प्रदर्शन किया। दिसंबर '21 तिमाही के दौरान उसका EBITDA 10,008 करोड़ था, जो 18.1% (YoY) ऊपर था। EBITDA में यह बढ़ोतरी ग्राहकों की संख्या में लगातार इजाफे और प्रति उपभोक्ता रेवेन्यू में सुधार के दम पर हुई।

जियो का ग्राहक आधार तीसरी तिमाही की समाप्ति पर 42 करोड़ 10 लाख हो गया था। पिछले 12 महीनों जियो नेटवर्क से 1 करोड़ ग्राहक जुड़े हैं। प्रति उपयोगकर्ता मासिक औसत राजस्व (ARPU) बढ़कर 151.6 रू हो गया, जो बेहतर ग्राहक मिश्रण और 1 दिसंबर 2021 से प्रभावी 20% टैरिफ वृद्धि के कारण हुआ।

प्रति उपयोगकर्ता प्रति माह डेटा और वॉयस ट्रैफिक यानी कॉलिंग में बढ़ोतरी दर्ज की गई है। जियो नेटवर्क पर डेटा खपत बढ़कर 18.4 जीबी और वॉयस ट्रैफिक 901 मिनट हो गई इनमें क्रमशः 42.6% और 13.2% की बढ़ोतरी हुई है। जियो की फिक्डलाइन ब्रॉडबैंड सर्विस जियोफाइबर के भी 50 लाख ग्राहक हो गए हैं और इस संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है।

देश भर के लगभग 1,000 शहरों में 5G के ट्रायल की योजना को जियो ने आगे बढ़ाया है। कंपनी अब अपने 5G नेटवर्क पर हेल्थकेयर और इंडस्ट्रियल ऑटोमेशन का टेस्ट कर रही है।

रिलायंस रिटेल ने दिसंबर 2021 की तिमाही के दौरान अपना अब तक का सबसे अधिक राजस्व पोस्ट किया, क्योंकि COVID का भय धीरे धीरे कम हो रहा है। स्टोर्स पर भी ग्राहक जमकर खरीददारी कर रहे हैं। डिजिटल और न्यू कॉमर्स से भी रिटेल को दम मिला है।

दिसंबर '21 तिमाही के लिए रिलायंस रिटेल का सकल राजस्व 52.5% बढ़कर 57,714 करोड़ हो गया, जबकि EBITDA में 23.8% (YoY) का उछल आया।

रिलायंस रिटेल ने तिमाही के दौरान 837 नए स्टोर खोले हैं। अब रिलायंस रिटेल के स्टोर्स की कुल संख्या 14,412 हो गई है, जोकि 40 मिलियन वर्ग फुट में फैले हैं। रिटेल के बुनियादी ढांचे के अलावा, कंपनी ने अपनी डिजिटल उपस्थिति को भी मजबूत किया। कंपनी ने अपने न्यू कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर मर्चेंट पार्टनर्स में साल-दर-साल चार गुना उछाल दर्ज किया, जबकि डिजिटल कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर ऑर्डर दोगुने हो गए, टियर -2 या छोटे शहरो से डिजिटल कॉमर्स के 50% ऑर्डर मिलते हैं।

शेल गैस में रिलायंस ने अपनी हिस्सेदारी बेच दी है, जिसके परिणामस्वरूप शुद्ध लाभ में 2,872 करोड़ रू का असाधारण लाभ शामिल है।

Edited By: Nitesh