नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। रिटायर राजनयिक रंजन मथाई ने संकट से घिरी एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज के बोर्ड से इस्तीफा दे दिया है। वह इस कंपनी के बोर्ड में बतौर स्वतंत्र निदेशक कार्यरत थे। जेट एयरवेज की ओर से एक बयान जारी कर इसकी जानकारी दी गई है। मथाई पूर्व विदेश सचिव भी रह चुके हैं, वह जेट एयरवेज के इस पद को छोड़ने वाले दूसरे स्वतंत्र निदेशक हैं।

दो सप्ताह पूर्व विक्रम सिंह मेहता ने भी एयरवेज के बोर्ड से इस्तीफा दिया था। कंपनी की ओर से दी गई जानकारी में बताया गया है कि मथाई ने अपने पूर्व निर्धारित प्रतिबद्धताओं के कारण यह कदम उठाया है। वह पिछले साल कंपनी के बोर्ड में शामिल हुए थे।

बता दें कि बढ़ते तेल के दाम और कर्ज से घिरी जेट एयरवेज लगातार संकट के दौर से गुजर रही है। हालांकि, पैसा जुटाने के लिए जेट एयरवेज ने कई निवेशकों से बात की है। हाल ही में खबर आई थी कि टाटा संस और जेट के बीच बातचीत चल रही है लेकिन, मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, टाटा ने अभी हिस्सेदारी खरीदने का कोई प्रस्ताव नहीं रखा है।

मथाई की ओर से जेट एयरवेज को भेजे बयान में कहा गया है कि अब मुझे जेट एयरवेज के बोर्ड में एक स्वतंत्र निदेशक के रूप में अपने दायित्वों को पूरा करने के लिए समय नहीं मिल पा रहा है इसलिए मैंने बोर्ड से इस्तीफा देने का फैसला किया है। 

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitesh