नई दिल्ली (जेएनएन)। पूर्व गृह सचिव राजीव महर्षि देश के अगले नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) होंगे। वो सोमवार से ही पदभार संभाल लेंगे। वो शशिकान्त शर्मा की जगह लेंगे। सरकार ने महर्षि की नियुक्ति को हाल ही में मंजूरी दी है। यह जानकारी अधिकारिक सूत्रों के जरिए सामने आई है। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक राजीव महर्षि (62) को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद सोमवार को राष्ट्रपति भवन में पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे।

कौन हैं राजीव महर्षि: आपको बता दें कि राजीव महर्षि राजस्थान कैडर के 1978 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारी हैं। इससे पहले वो गृह सचिव का कार्यकाल संभाल रहे थे। जानकारी के मुताबिक उनका कार्यकाल बीते महीने ही खत्म् हुआ है। इससे पहले शशिकान्त शर्मा कैग का पदभार संभाल रहे थे। वो 23 मई, 2013 से ही कैग की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। बीता शुक्रवार बतौर कैग उनका आखिरी दिन रहा। शर्मा कैग में आने से पहले शर्मा रक्षा सचिव थे।

कितने साल कैग रहेंगे महर्षि: राजीव महर्षि का कार्यकाल तीन साल तक के लिए होगा। अमूमन कैग की नियुक्ति छह साल या 65 वर्ष की आयु पूरी होने तक के लिए ही की जाती है। गृह सचिव बनने से पहले महर्षि आर्थिक मामलों के सचिव और राजस्थान के मुख्य सचिव भी रह चुके हैं। साथ ही वो रसायन एवं उर्वरक विभाग और प्रवासी भारतीय मामलों के विभाग में भी सचिव रह चुके हैं।

Posted By: Praveen Dwivedi