नई दिल्ली, प्रेट्र। यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब नेशनल बैंक और ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स अगले वर्ष पहली अप्रैल तक विलय प्रक्रिया पूरी कर लेंगे। दोनों बैंकों का पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में विलय होना है। यह भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के बाद देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक होगा और जिसका कुल कारोबार 18 लाख करोड़ रुपये का होगा। यूबीआई के प्रबंध निदेशक और सीईओ अशोक कुमार प्रधान ने कहा, 'विलय प्रक्रिया में कुछ समय लगेगा और नई इकाई एक अप्रैल 2020 से काम करना शुरू कर देगी।'

तीनों बैंकों ने सम्मिलित रूप से आयोजित कस्टमर मीटिंग में यह जानकारी दी। इस दौरान कहा गया कि विलय के बाद इसके स्टाफ में किसी तरह की कटौती नहीं की जाएगी। बैंकों ने वीआरएस की संभावना से भी इन्कार किया। विलय के बाद इनके कर्मचारियों की कुल संख्या करीब एक लाख हो जाएगी।

गौरतलब है कि वित्त मंत्री ने पिछले दिनों 10 सरकारी बैंकों (पीएसबी) को मिलाकर चार बैंक बनाने की घोषणा की। जिसमें पंजाब नेशनल बैंक में यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और ओरिएंटल बैंक का मर्जर होगा। इसी तरह दूसरे मर्जर में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक एक साथ हो जाएंगे। इसके अलावा केनरा बैंक में सिंडिकेट बैंक और इंडियन बैंक में इलाहाबाद बैंक शामिल होगा। 

Posted By: Nitesh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस