नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले इंडिया पोस्ट ने 9 लघु बचत निवेश योजनाएं लॉन्च की हैं जिसमें पोस्ट ऑफिस आवर्ती जमा खाता भी शामिल है। इन निवेश योजनाओं को सरकार द्वारा चलाई जाने वाली लघु बचत योजनाओं के रूप में जाना जाता है। आवर्ती जमा यानी आरडी को मध्यम समयसीमा वाले निवेश के रूप में यूज किया जाता है। पोस्ट ऑफिस आरडी में निवेश करने वाले लोगों को यह पता होना चाहिए कि इसमें उनका डिपॉजिट न्यूनतम पांच साल तक एक्टिव रहता है। आवर्ती जमा खाते को मैच्योरिटी के बाद भी अगले पांच सालों के लिए आगे बढ़ाया जा सकता है।

आइए जानते हैं कि इस योजना के कौन-कौनसे फायदे हैं-

1. एक जुलाई 2019 से इस योजना में ब्याज दर 7.2 फीसद प्रति वर्ष है। इस योजना में ब्याज हर तीन महीने में मूलधन में जुड़ जाता है।

2. इस खाते को खोलने के लिए आवश्यक न्यूनतम राशि मात्र 10 रुपये प्रति महीना है, जबकि कोई अधिकतम सीमा नहीं है।

3. आरडी खाते को कैश या चेक दोनों से खोला जा सकता है। इस योजना में नॉमिनेशन की सुविधा भी मुहैया कराई जाती है। इस सुविधा का लाभ खाता खोलते समय या खाता खुल जाने के बाद भी लिया जा सकता है।

4. कोई भी निवेशक किसी भी पोस्ट ऑफिस में कितने भी खाते खोल सकता है, जो कि एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे में ट्रांसफर भी किये जा सकते हैं।

5. पोस्ट ऑफिस आवर्ती जमा खाता एक नाबालिग के नाम पर भी खोला जा सकता है। साथ ही 10 साल और अधिक का नाबालिग स्वयं खाता खोल सकता है और उसे संचालित कर सकता है।

6. इस योजना में अगले महीने के 15 वें दिन तक अपना योगदान जमा करना होता है। उदाहरण के तौर पर, अगर आपने इस महीने की 16 तारीख को खाता खुलवाया है, तो आपको अगले महीने के आखिरी दिन तक अपना योगदान जमा करना होगा।

7. अगर निवेशक नियत दिन तक अपना योगदान जमा नहीं कर पाता है, तो प्रत्येक 5 रुपये पर 0.05 रुपये शुल्क वसूला जाता है। यदि आप लगातार चार बार डिपोजिट जमा नहीं कराते हैं, तो आपका अकाउंट स्वत: रुक जाता है और फिर उसे 2 महीने से पहले दोबारा शुरू नहीं किया जा सकता है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Pawan Jayaswal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप