नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। किसी समय अनिल अंबानी का नाम भारत के शीर्ष उद्योगपतियों में लिया जाता था और अब हालत यह है कि उन्हें अपने वकीलों की फीस भरने के लिए गहने तक बेचने पड़ रहे हैं। अनिल अंबानी ने स्वयं यह बात यूके की एक अदालत को बतायी है। कर्ज से जूझ रहे अनिल अंबानी ने यूके की अदालत से कहा कि वे एक बेहद साधारण जीवन जी रहे हैं, केवल एक कार चलाते हैं और वकीलों की फीस भरने के लिए अपने गहने भी बेच दिये हैं।

उन्होंने कहा कि उन्हें जनवरी से जून 2020 के बीच अपने सभी गहनों से 9.9 करोड़ रुपये प्राप्त हुए हैं और अब उनके पास कोई भी कीमती वस्तु नहीं बची है।

यह भी पढ़ें (Share Market Tips: बाजार की अस्थिरता का करें वास्तविक निवेश में इस्तेमाल, मिलेगा मोटा मुनाफा, जानिए कैसे)

अनिल अंबानी से जब उनके लग्जरी कारों के बेड़े के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि ये सब मीडिया द्वारा फैलाई अफवाहें हैं और उनके पास कभी कोई रॉल्स रॉयस नहीं थी। उन्होंने बताया कि वे वर्तमान में सिर्फ एक कार चला रहे हैं।

यूके की अदालत ने 22 मई 2020 को अनिल अंबानी को आदेश दिया था कि वे तीन चीनी बैंकों का 12 जून 2020 तक  71,69,17,681 डॉलर (करीब 5,281 करोड़ रुपये) का कर्ज चुकाएं और बतौर कानूनी खर्च 50,000 पाउंड (करीब 7 करोड़ रुपये) का भुगतान करें।

अदालत को दिए एक एफिडेविट में अनिल अंबानी ने कहा कि उन्होंने रिलायंस इनोवेंचर्स को पांच अरब रुपये का कर्ज दिया है। साथ ही अंबानी ने बताया कि रिलायंस इनोवेंचर्स में 1.20 करोड़ इक्विटी शेयरों की कोई कीमत नहीं है। उन्होंने कहा कि ना तो उनके पारिवारिक ट्रस्ट और ना ही किसी अन्य ट्रस्ट में उनका कोई आर्थिक हित है।

यह भी पढ़ें:  छह वर्ष से MSP से दोगुनी कीमत पर बेच रहे फसल, प्रति एकड़ हर साल पचास हजार की आय

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस