मुंबई, पीटीआइ। वेंचर कैपिटल से जुड़ी कंपनी Sequoia Capital India ने सबसे ज्यादा यूनिकॉर्न यानी एक अरब डॉलर से अधिक के बाजार मूल्यांकन वाली भारतीय कंपनियों में निवेश किया है। बुधवार को जारी एक रिपोर्ट में ऐसा कहा गया है। हुरुन इंडिया यूनिकॉर्न इंवेस्टर्स लिस्ट के मुताबिक  Sequoia ने Byju's और Unacademy सहित सर्वाधिक आठ भारतीय यूनिकॉर्न में निवेश किया है। वहीं, जापान की सॉफ्टबैंक और ब्रिटेन की Steadview Capital ने एक अरब डॉलर से अधिक मूल्यांकन वाली सात-सात कंपनियों में निवेश किया हुआ है।  

वहीं, अगर चीनी कंपनियों के निवेश की बात की जाए तो रिपोर्ट के मुताबिक Tencent Holdings भारत की शीर्ष यूनिकॉर्न कंपनियों में प्रमुख रूप से निवेश करने वाली एकमात्र चीनी कंपनी है। 

भारत की तीन यूनिकॉर्न कंपनियों में निवेश के साथ Tencent हारुन की इस लिस्ट में संयुक्त रूप से 11वें स्थान पर है। इस लिस्ट में 11वें स्थान पर बेनेट कोलमैन एंड कंपनी, बेसमेर इंडिया कैपिटल होल्डिंग्स, चिराताई वेंचर्स, जनरल अटलांटिस सिंगापुर, आईएफसी और एलटीआर फोकस फंड शामिल हैं। 

यहां दिलचस्प यह है कि रिपोर्ट के मुताबिक फैंटेसी गेमिंग से जुड़ी कंपनी Dream11 में भी Tencent ने निवेश किया हुआ है। इस कंपनी को हाल में आईपीएल क्रिकेट लीग की टाइटल स्पॉन्सरशिप हासिल हुई है। 

ऐसा प्रतीत हो रहा है कि Paytm, Paytm Mall, Zomato और Big Basket में निवेश करने वाली चीन की दिग्गज अलीबाबा ने अपने सिंगापुर ऑफिस के जरिए इंवेस्टमेंट किया है इसलिए इस इंवेस्टमेंट को हुरुन ने चीनी निवेशक द्वारा किया गया निवेश नहीं बताया है। 

रिपोर्ट में कहा गया है कि दिग्गज उद्योगपति रतन टाटा की RNT Associates यूनिकॉर्न कंपनियों के निवेशकों की लिस्ट में सातवें स्थान पर है। कंपनी ने ओला कैब्स, जोमैटो, लेंसकार्ट और Unacademy में निवेश किया हुआ है। 

हुरुन के मैनेजिंग डायरेक्टर (इंडिया) और चीफ रिसर्चर अनस रहमान ने कहा, ''ये निवेशक भारत में नई संपत्ति के सृजन में उल्लेखनीय भूमिका निभाते हैं।''

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप