नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। लंबे समय से वित्तीय संकट से जूझ रही एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज ने अपने 20 कर्मचारियों को इस महीने नौकरी छोड़ने के लिए नोटिस थमा दिया है। इसमें कुछ वरिष्ठ स्तर के अधिकारियों भी शामिल हैं। न्यूज़ एजेंसी पीटीआई ने ये जानकारी दी है। ये सभी कर्मचारी एयरलाइन के महत्वपूर्ण विभाग में काम कर रहे थे।

मिली जानकारी के मुताबिक, एयरलाइन ने हाल ही में कंपनी छोड़ने के लिए अपने 15 प्रबंधकीय स्तर के कर्मचारियों से बातचीत की थी। जिनमें इंजीनियरिंग, सुरक्षा और बिक्री सहित विभिन्न विभागों के कर्मचारी थे।

बता दें कि जेट में अबू धाबी की कंपनी एतिहाद एयरवेज का भी हिस्सा है। जेट में एतिहाद की 24 फीसद हिस्सेदारी है। हाल ही में जेट की वित्तीय स्थिति सुधारने के लिए एतिहाद ने एयरलाइन को 3.5 अरब डॉलर दिए थे। गौरतलब है कि कंपनी लंबे समय से वित्तीय संकट से जूझ रही है। जेट एयरवेज ने अपने वरिष्ट अधिकारी, पायलट और इंजीनियर के वेतन में देरी की है।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जेट एयरवेज अगस्त में लगातार दूसरे तिमाही में हुए नुकसान के बाद से कर्मचारियों की छटनी कर रहा है। हालांकि एयरलाइन ने सितंबर महीने में इसपर रोक लगाई थी लेकिन, एक बार फिर से कंपनी ने लोगों को निकालना शुरू कर दिया है। मिली जानकारी के अनुसार जेट एयरवेज खुद ही लोगों को नौकरी छोड़ने के लिए कह रहा है।

सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार, जेट ने सहायक प्रबंधक, प्रबंधक, वरिष्ठ मैनेजर समेत इन-फ्लाइट सर्विसेज विभाग के लगभग 20 कर्मचारियों को इस महीने बर्खास्त कर दिया है जिनमें से अधिकतर लोग मुंबई से हैं।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitesh