नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। नकदी संकट से जूझ रही जेट एयरवेज ने टाटा समूह की ओर से एयरलाइन में हिस्सेदारी खरीदने को लेकर चल रही खबरों को काल्पनिक बताया है। जेट एयरवेज ने कहा, 'टाटा समूह जेट एयरलाइन में हिस्सेदारी खरीदेगा इस तरह की खबरें पूरी तरह से काल्पनिक हैं और इस पर कंपनी की ओर से कोई चर्चा या निर्णय नहीं लिया गया है जिसपर हमें कोई सफाई देने की जरूरत पड़े।'

कंपनी के इस स्पष्टीकरण के बाद सोमवार को जेट एयरवेज के शेयरों में (6.5%) 219 रुपये प्रति शेयर गिरावट दर्ज की गई। स्टॉक मार्केट में शुक्रवार को जेट एयरवेज 229 रुपये पर बंद हुआ। जबकि पिछले सात कारोबारी दिनों 9 अक्टूबर से जेट के शेयरो में 30% का उछाल देखा गया था। गौरतलब है कि पिछले दिनों ये खबर आई थी कि जेट एयरवेज को संकट से उबारने के लिए टाटा ग्रुप इसमें बड़ी हिस्सेदारी खरीद सकती है।

बता दें कि जेट के चेयरमैन नरेश गोयल और उनकी पत्नी अनिता के पास जेट का 51 फीसद शेयर है। अबू धाबी की कंपनी एतिहाद एयरवेज की जेट में 24 फीसद हिस्सेदारी है। इसी महीने जेट की वित्तीय स्थिति सुधारने के लिए एतिहाद ने जेट को 3.5 अरब डॉलर दिए थे। पिछले कुछ महीनों से जेट एयरवेज लगातार खबरों में बना हुआ है। एयरलाइन अपने पायलटों को सैलरी देने में लगातार देरी कर चुकी है। इसके अलावा एयरलाइन अन्य कर्मचारियों को भी सैलरी नहीं दे पा रही है।

 

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitesh