नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। केंद्र सरकार की महात्वाकांक्षी योजना आयुष्मान भारत से तकरीबन 55 करोड़ लोगों को फायदा पहुंचेगा। एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री जे पी नड्डा ने यह जानकारी दी है।

स्वास्थ्य मंत्री नड्डा ने कहा कि 29 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों ने आयुष्मान भारत को लेकर सहमति पत्र (एमओयू) पर हस्ताक्षर कर दिए हैं, साथ ही प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के क्रियान्वयन को लेकर भी काम शुरू हो गया है। पायलट आधार पर 16 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में इसे शुरू किया गया है। 25 सितंबर को इसे पूर्ण रूप से लागू करने से पहले अन्य शेष राज्य/केंद्र शासित प्रदेश भी इसपर पायलट आधार पर काम शुरू करेंगे।

स्वास्थ्य मंत्री ने एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि योजना के तहत, 94 आईटी कंट्रोल उपलब्ध कराये गये हैं। इससे लोगों के स्वास्थ्य से जुड़े निजी आंकड़ों की सुरक्षा और उसके भंडारण के संबंध में ऐसी व्यवस्था की गई है किसी भी व्यक्ति की मंजूरी के बिना उसका डेटा साझा नहीं किया जाएगा।

बता दें कि आयुष्मान भारत योजना को 25 सितंबर से पूरे देश में शुरू किया जाएगा। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए नड्डा ने कहा, योजना के लाभार्थी को एक-एक कार्ड जारी किया जाएगा ताकि उसे सालाना पांच लाख रुपये तक स्वास्थ्य बीमा लेने में कोई दिक्कत न हो।

मरीजों को मिलेगा परिवहन भत्ता: योजना में शामिल मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने के पहले एवं डिस्चार्ज होने के बाद खर्च खुद वहन नहीं करना पड़ेगा। इसके साथ ही अस्पताल में आने जाने के लिए परिवहन भत्ता भी दिया जाएगा। इस योजना के तहत बीमित व्यक्ति सिर्फ सरकारी ही नहीं बल्कि निजी अस्पतालों में भी इलाज करा सकेगा। 

Posted By: Surbhi Jain

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस