नई दिल्ली, पीटीआइ। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कहा कि सरकार देश में ज्यादा से ज्यादा निवेश लाने के लिए सभी तरह की सुधार के लिए हमेशा तैयार है। भारत-स्वीडन बिजनेस समिट में उन्होंने कहा कि सरकार ने सुधारों के लिए विभिन्न कदम उठाए हैं, जिसमें कॉर्पोरेट टैक्स को कम करना भी शामिल है।

सीतारमण ने कहा, 'मैं निवेश के लिए आमंत्रित करना और आश्वासन दे सकती हूं कि भारत सरकार विभिन्न क्षेत्रों में आगे सुधार के लिए प्रतिबद्ध है, चाहे वह बैंकिंग, खनन या बीमा क्षेत्र हो।

वित्तमंत्री ने बुनियादी ढांचा विकास परियोजनाओं में निवेश के लिए स्वीडिश फर्मों को आमंत्रित किया। भारत की योजना अगले पांच वर्षों में बुनियादी ढांचा क्षेत्र में लगभग 100 लाख करोड़ रुपये के निवेश की है। 

उल्लेखनीय है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को पर्सनल इनकम टैक्स को कम करने के लिए सांसदों से बात की और उनके सुझाव लिए। हालांकि, उनका कहना था कि इसमें कटौती का निर्णय इसके फायदों को ध्यान में रखते हुए ही लिया जाएगा। पर्सनल इनकम टैक्स की दरों के बारे में वित्त मंत्री ने टीएमसी के नेता सौगत रॉय द्वारा लोकसभा में कार्यवाही के दौरान पूछे गए सवाल का जवाब दिया था। वित्त मंत्री ने अपनी आजीविका के लिए कमा रहे और टैक्स भर रहे लोगों के सम्मान की बात कही।

गौरतलब है कि कॉरपोरेट टैक्स की दर घटाने संबंधी कराधान विधि (संशोधन) विधेयक, 2019 सोमवार को लोकसभा से पारित हो गया। देश में मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए सितंबर, 2019 में यह अध्यादेश लाया गया था। इसके जरिये देश में कॉरपोरेट टैक्स की दर को 30 से घटाकर 22 फीसद और नई मैन्यूफैक्चरिंग कंपनियों के लिए 15 फीसद करने का एलान किया गया था।

Posted By: Nitesh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप