नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। वैश्विक सलाहकार कंपनी पीडब्ल्यूसी ने भारतीय अर्थव्यवस्था और इसकी विकास दर के प्रति बेहद उत्साहजनक अनुमान लगाया है। अपनी रिपोर्ट में एजेंसी ने कहा कि भारत इसी वर्ष दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की सूची में ब्रिटेन को पीछे छोड़ पांचवें स्थान पर आ सकता है। विश्व बैंक के मुताबिक भारत अभी छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है।

रिपोर्ट के मुताबिक लगभग समान विकास दर और आबादी के कारण ब्रिटेन और फ्रांस दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की सूची में आगे-पीछे होते रहते हैं। लेकिन यदि भारत इस सूची में आगे निकलता है तो उसका स्थान स्थायी रहेगा। पीडब्ल्यूसी की वैश्विक अर्थव्यवस्था निगरानी रिपोर्ट में अनुमान लगाया गया है कि इस वर्ष ब्रिटेन की वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) विकास दर 1.6 फीसद, फ्रांस की 1.7 फीसद तथा भारत की 7.6 फीसद रहेगी।

रिपोर्ट का कहना है कि इस वर्ष भारत और फ्रांस दोनों ब्रिटेन को पीछे छोड़ देंगे। इससे वैश्विक रैंकिंग में ब्रिटेन पांचवें स्थान से फिसलकर सातवें पायदान पर चला जाएगा। विश्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक वर्ष 2017 में फ्रांस को पीछे छोड़कर भारत दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन चुका है। 2017 में भारत 2,590 अरब डॉलर के बराबर जीडीपी के साथ फ्रांस को पीछे छोड़ते हुए दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया था। उस वर्ष 2,580 अरब डॉलर जीडीपी के साथ फ्रांस सातवें स्थान पर था। जल्द भारत के ब्रिटेन को पीछे छोड़ने की उम्मीद है, जो अभी पांचवें स्थान पर है। 

Posted By: Nitesh