नई दिल्ली, पीटीआइ। देश का विदेशी मुद्रा भंडार 30 अप्रैल को खत्म सप्ताह में 3.913 अरब डॉलर बढ़कर 588.02 अरब डॉलर पर जा पहुंचा। उससे पहले 23 अप्रैल को खत्म हुए सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार में 1.701 अरब डॉलर का इजाफा हुआ, जिसके बाद वह बढ़कर 584.107 अरब डॉलर हो गया था। देश का विदेशी मुद्रा भंडार पिछले कुछ महीनों से लगातार बढ़ रहा है। इस वर्ष 29 जनवरी को खत्म सप्ताह के दौरान यह 590.185 अरब डॉलर की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया।

विदेशी मुद्रा भंडार पिछले वर्ष जून में पहली बार 500 अरब डॉलर के पार पहुंचा था। आरबीआइ द्वारा दी जानकारी के मुताबिक समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियों (एफसीए) में 4.413 अरब डॉलर का इजाफा हुआ। इससे इन परिसंपत्तियों का मूल्य बढ़कर 546.059 अरब डॉलर पर जा पहुंचा। एफसीए में डॉलर समेत यूरो, पाउंड और येन जैसी मुद्राओं को भी शामिल किया जाता है। इनके मूल्य की गणना भी डॉलर के भाव में ही की जाती है।

आरबीआइ के मुताबिक समीक्षाधीन सप्ताह में देश के स्वर्ण भंडार का मूल्य 50.5 करोड़ डॉलर गिरकर 35.464 अरब डॉलर मूल्य का रह गया। आंकड़ों से यह जानकारी मिली है।

वहीं, आईएमएफ (IMF) में विशेष निकासी अधिकार (SDR) 30 लाख डॉलर बढ़कर 1.508 अरब डॉलर पर पहुंच गया है। इसके अलावा आईएमएफ के पास देश के आरक्षित भंडार की स्थिति 2 करोड़ डालर बढ़कर 4.99 अरब डॉलर पर पहुंच गई।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप