नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। देश का औद्योगिक उत्पादन (IIP) दिसंबर, 2019 में 0.3 फीसद घट गया। विनिर्माण क्षेत्र का प्रदर्शन खराब रहने से औद्योगिक उत्पादन में गिरावट आई है। दिसंबर, 2018 में औद्योगिक उत्पादन में 2.5 फीसद वृद्धि दर्ज की गई थी। सरकार ने बुधवार को इसे लेकर आंकड़े जारी किए। बिजली उत्पादन घटकर 0,1 फीसद रही, जबकि दिसंबर 2018 में इसमें 4.5 फीसद की बढ़ोतरी देखी गई थी।

खनन क्षेत्र के उत्पादन में 5.4 फीसद का इजाफा रहा, जबकि इसमें पहले 1 फीसद की गिरावट दर्ज की गई थी। चालू वित्त वर्ष के अप्रैल-दिसंबर की अवधि में IIP ग्रोथ घटकर 0.5 फीसद रहा, जो वित्त वर्ष 2018-19 की समान अवधि में 4.7 फीसद था।

राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO) के आंकड़ों के अनुसार, मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर के उत्पादन में 1.2 फीसद की गिरावट आई है, जबकि एक साल पहले इसी महीने में इसमें 2.9 फीसद की वृद्धि दर्ज की गई थी। दिसंबर महीने के आंकड़ों से पता चला है कि पूंजीगत वस्तुओं का उत्पादन जो निवेश का एक मानदंड है, यह पिछले वर्ष के इसी महीने में 4.2 फीसद की वृद्धि की तुलना में 18.2 फीसद घटा है।

 

उद्योगों के संदर्भ में मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्टर के 23 में से 16 उद्योग समूहों ने दिसंबर 2019 के दौरान पिछले वर्ष के इसी महीने की तुलना में नकारात्मक वृद्धि दिखाई है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस