नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। केंद्र सरकार ने शुक्रवार को साफ किया है कि उसने 2000 रुपये के नोटों की छपाई को फिलहाल के लिए रोका है क्योंकि प्रचलन में इसका पर्याप्त स्टॉक है। आरबीआई की ओर से 2000 रुपये का नया नोट नवंबर 2016 में नोटबंदी के बाद जारी किया गया था।

आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने अपने ट्वीट में जानकारी दी कि नोटों की छपाई आवश्यकता के अनुसार की जाती है। उन्होंने कहा कि हमारे पास सिस्टम में 2000 रुपये के पर्याप्त नोट हैं और कुल प्रचलित मुद्रा में 35 फीसद नोट 2000 रुपये के हैं। गर्ग ने बताया कि हाल ही में 2000 रुपये के नोटों की छपाई को लेकर कोई फैसला नहीं हुआ है।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि 500 और 1000 रुपये के नोटों को सरकार की ओर से अमान्य ठहराए जाने के बाद रिजर्व बैंक की ओर से 2000 रुपये का नोट जारी किया गया था, जिसके बाद फिर 500 रुपये का नोट जारी किया गया।

गौरतलब है कि 8 नवंबर 2016 को 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट अमान्य ठहरा दिए गए थे जो कि उस वक्त बाजार में प्रचलित कुल मुद्रा का 86 फीसद हिस्सा थे।

Posted By: Praveen Dwivedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस