नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। मंत्रियों की समिति ने एयर इंडिया की ग्राउंड हैंडलिंग सब्सिडियरी एयर इंडिया एयर ट्रांसपोर्ट सर्विसेज लि. (एआइएटीएसएल) की रणनीतिक बिक्री के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। यह जानकारी एक अधिकारी ने दी है।

समिति ने सब्सिडियरी को बेचने की मंजूरी ऐसे समय में दी है जब सरकार करीब 50,000 करोड़ रुपये कर्ज के बोझ से दबी सरकारी एयरलाइन एयर इंडिया की नॉन कोर असेट को बेचने समेत कई विकल्पों पर विचार कर रही है। 

मंत्रियों की समिति यानी आल्टरनेटिव मैकेनिज्म ने एआइएटीएसएल की बिक्री के लिए अभिरुचि पत्र आमंत्रित करने के साथ प्राथमिकता सूचना जारी करने के लिए अनुमति दे दी। इस सब्सिडियरी को बेचने से प्राप्त होने वाली राशि का इस्तेमाल कर्ज उतारने में किया जाएगा। 

अधिकारी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि एयर इंडिया के विनिवेश के लिए वित्त मंत्री अरुण जेटली की अगुआई में बनाए गए आल्टरनेटिव मैकेनिज्म ने एआइएटीएसएल की सौ फीसद हिस्सेदारी बेचने को मंजूरी दी है।

बैठक में जेटली और नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु के अलावा अन्य अधिकारियों ने हिस्सा लिया। एआइएटीएसएल को नव गठित स्पेशल परपज व्हीकल (एसपीवी) को ट्रांसफर करने के बाद इसकी बिक्री की जाएगी। फर्म-एआईएटीएसएल भारत के अधिकांश हवाई अड्डों में ग्राउंड हैंडलिंग सेवा प्रदान करती है। इसे फरवरी 2013 में शुरू किया गया था।

Posted By: Nitesh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस