नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। सरकारी बैंक इलाहाबाद बैंक ने कहा है कि केंद्र सरकार चालू वित्त वर्ष में बैंक में 3,054 करोड़ रुपये की पूंजी डालेगी। बयान में कहा गया है कि सरकार ने बैंक को सूचना दी है कि वह वित्त वर्ष 2018-19 में बैंक 3,054 करोड़ रुपये की पूंजी इक्विटी शेयरों (विशेष सिक्युरिटी/बांड्स) के तरजीही आवंटन के बदले निवेश के रूप में डालेगी।

चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही के अंत में इलाहाबाद बैंक की पूंजी पर्याप्तता अनुपात बासेल-3 नियमन के मुताबिक 6.88 फीसद रह गई थी, और इस बैंक में सरकार की हिस्सेदारी 71.81 फीसद थी।

बैंक चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 1,944.37 करोड़ रुपये का घाटा दर्ज किया है, जबकि पिछले वित्तवर्ष की समान तिमाही में बैंक को 28.84 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था।

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने कोलकाता स्थित मुख्यालय वाले इस बैंक पर इस साल मई में शीघ्र सुधार कार्रवाई (पीसीए) फ्रेमवर्क के तहत अतिरिक्त पाबंदी लगाई थी।

Posted By: Nitesh