नई दिल्ली (जेएनएन)। सरकार ने सार्वजनिक भविष्य निधि (पीपीएफ), एनएससी और किसान विकास पत्र सहित छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में 10 बेसिस प्वाइंट की कटौती कर दी हैं। अब पीपीएफ और एनएससी पर 7.8 फीसद की दर से ब्याज मिलेगा। जबकि किसान विकास पत्र पर सिर्फ 7.5 फीसद की दर से ही ब्याज दिया जाएगा। आपको बता दें कि इन दरों में कटौती से पहले पीपीएफ, एनएससी और केवीपी पर क्रमश: 7.9 फीसद, 7.9 फीसद और 7.6 फीसद की दर से ब्याज दिया जा रहा था।

सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम और सुकन्या समृद्धि योजना अब 8.3 फीसद ब्याज की पेशकश करेगी। जबकि इससे पहले इन दोनों योजनाओं (सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम और सुकन्या समृद्धि योजना) पर 8.4 फीसद की दर से ब्याज दिया जा रहा था। आपको बता दें कि छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरें बेंचमार्क 10-वर्षीय सरकारी बांड यील्ड से जुड़ी हुई हैं और इनमें हर तीन महीने में संशोधन किया जाता है। इसके पहले मार्च महीने के दौरान दरों में संशोधन किया गया था। उस वक्त भी ब्याज दरों में 10 बेसिस प्वाइंट की कटौती की गई थी।

पर्यवेक्षकों का कहना है कि सरकार दर तय करने में गोपीनाथ पैनल फॉर्मूले पर नहीं चल रही है। इस फॉर्मूले के मुताबिक पीपीएफ का दरें बेंचमार्क बॉन्ड यील्ड से 50 बेसिस प्वाइंट ऊपर होनी चाहिए। यह देखते हुए कि 10 वर्षीय बॉन्ड यील्ड 6.5 फीसद के आसपास है इसलिए पीपीएफ की दरें 7 फीसद से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। आउटलुक एशिया कैपिटल के सीईओ मनोज नागपाल ने बताया, “अब हर तिमाही दरों में 10 बेसिस प्वाइंट की कटौती का फॉर्मूला तय किया गया है।”

Posted By: Surbhi Jain

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस