नई दिल्ली, पीटीआइ। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने करीब 8 करोड़ प्रवासी मजदूरों को अगले दो माह तक निशुल्क अनाज देने की गुरुवार को घोषणा की। 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज से जुड़ी जानकारी देते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि ऐसे आठ करोड़ प्रवासी श्रमिकों को अगले दो माह तक मुफ्त में अनाज दिया जाएगा, जिनके पास किसी तरह का राशन कार्ड नहीं है। इस स्कीम के तहत राशन कार्ड नहीं होने पर भी श्रमिकों को प्रति व्यक्ति पांच किलोग्राम अनाज और प्रति परिवार एक किलोग्राम चना प्रति माह के हिसाब से दिया जाएगा। यह मदद अगले दो माह तक दी जाएगी। 

सीतारमण ने जानकारी दी कि (जन वितरण प्रणाली) PDS राशन कार्ड को पोर्टेबल बनाया जाएगा। इससे प्रवासी मजदूर अपने राशन कार्ड का इस्तेमाल दूसरे राज्यों में भी राशन लेने के लिए कर सकेंगे। इससे अगस्त तक 23 राज्यों में 67 करोड़ लाभार्थियों को फायदा पहुंचने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि मार्च, 2021 तक 'एक देश, एक राशन कार्ड' के दायरे में 100 फीसद PDS कार्ड होल्डर्स आ जाएंगे। 

(यह भी पढ़ेंः HIGHLIGHTS Nirmala Sitharaman Speech Day 2: स्ट्रीट वेंडर्स के लिए 5,000 करोड़ रुपये की विशेष कर्ज सुविधा का प्रावधान, एक माह के भीतर आएगी योजना)

वित्त मंत्री ने अपने संवाददाता सम्मेलन के दौरान रेहड़ी पटरी वालों के लिए भी विशेष एलान किया। उन्होंने कहा कि सरकार एक महीने के भीतर एक स्कीम को लागू करने जा रही है, जिसके तहत रेहड़ी-पटरी वाले 10,000 रुपये तक का लोन ले सकेंगे। इस मद में सरकार ने 5,000 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। इसके अलावा डिजिटल भुगतान की सुविधा देने वाले स्ट्रीट-वेंडर्स को प्रोत्साहित किया जाएगा।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस