नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने केंद्रीय सार्वजनिक कंपनियों (सीपीएसई) को अपने पूंजीगत खर्च को तय समय पर निस्तारण के निर्देश दिए। शुक्रवार को वित्त मंत्री ने 7 सीपीएसई के सीएमडी के साथ बैठक की। बैठक में चालू वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान सीपीएसई के लिए तय पूंजीगत खर्च की समीक्षा की गई।

चालू वित्त वर्ष में 7 सीपीएसई के लिए 1,24,825 करोड़ रुपए खर्च करने का लक्ष्य रखा गया है। वित्त मंत्री ने कहा कि कोशिश यह होनी चाहिए कि तय लक्ष्य की 50 फीसद राशि चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के अंत तक खर्च हो जाए।

उन्होंने कहा कि सीपीएसएई भारतीय अर्थव्यवस्था को आगे ले जाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। सीपीएसई के बेहतर प्रदर्शन से अर्थव्यवस्था को कोविड 19 के असर से बाहर निकलने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि यह असाधारण समय है और इस दौरान असाधारण प्रयास की जरूरत है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस