नई दिल्ली, पीटीआइ। दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन ने शुक्रवार को कहा कि वह कोरोना वायरस महामारी के इस समय में अपने भारत के डिलिवरी भागीदारों को 25 मिलियन डॉलर के वैश्विक राहत कोष से मदद देगी। अमेजन ने एक स्टेटमेंट में कहा कि वह इस 2.5 करोड़ डॉलर के राहत कोष का फायदा अमेजन फ्लेक्स प्रोग्राम, अपने डिलिवरी सर्विस पार्टनर प्रोग्राम और ट्रक भागिदारों को देगी। कंपनी ने अपनी भागीदारों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की स्थिति में आर्थिक मदद के लिए यह फंड उनके लिए खोला है।

कंपनी ने अपने स्टेटमेंट में कहा, 'कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने वाले योग्य भागीदार इस वैश्विक राहत कोष का उपयोग कर सकेंगे। जिन्हें संक्रमण की आशंका के चलते क्वारंटीन कर दिया गया है, वे भागीदार भी इसका उपयोग कर सकेंगे। हालांकि, हमें यह आशा है कि इस विकट समय में भी उपभोक्ताओं को सेवाएं दे रहा उसका कोई भागीदार कोरोना वायरस महामारी से संक्रमित नहीं है। लेकिन अगर कोई संक्रमित होता है, तो यह राहत कोष उन लोगों के लिए ही है।'

ई-कॉमर्स कंपनी ने कहा कि इस राहत फंड से ऐसे कई लोगों को आर्थिक सुरक्षा मिलेगी जो उनकी सेवाओं में प्रमुख योगदान देते हैं, लेकिन उनके कर्मचारी नहीं हैं। गौरतलब है कि कंपनी ने मार्च महीने में 25 मिलियन डॉलर का वैश्विक राहत कोष बनाने की घोषणा की थी। यहां बता दें कि भारत में बीती 25 मार्च से ही 21 दिनों का संपूर्ण लॉकडाउन लागू है। इस दौरान आवश्यक सामानों और आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी औद्योगिक और व्यापारिक गतिविधियां बंद हैं। 

Posted By: Pawan Jayaswal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस