नई दिल्ली: टाटा ग्रुप की ओर से दी गई 9 पन्नों की प्रतिक्रिया के जवाब में साइरस के ऑफिस ने भी बड़ा पटलवार किया है। साइरस के ऑफिस का कहना है कि टाटा ग्रुप का यह बयान हताशा को दर्शाता है। ग्रुप ने बताया कि टाटा ग्रुप के चेयरमैन पद से हटाए जाने के बाद से उन्हें काफी सारे ई-मेल और फोन्स कॉल्स के जरिए प्रतिक्रियाएं मिली हैं। गौरतलब है कि साइरस मिस्त्री की ओर से लगाए गए आरोपों के जवाब में गुरुवार को टाटा ग्रुप ने 9 पन्ने का एक लेटर लिखा जिसमें उन्होंने कहा कि साइरस मिस्त्री ने ग्रुप का भरोसा तोड़ा है।

टाटा ग्रुप ने लिखा है 9 पन्नों का लेटर:

टाटा ग्रुप ने 9 पेज का लेटर लिखकर साइरस मिस्त्री के सभी आरोपों का जवाब दिया है। ग्रुप ने अपने लेटर में लिखा है कि मिस्त्री ने हमारा भरोसा तोड़ने का काम किया। वे टाटा ग्रुप की मेन ऑपरेटिंग कंपनियों से दूसरे प्रतिनिधियों को बाहर कर खुद का नियंत्रण चाहते थे। मिस्त्री की रणनीति यह थी कि वे टाटा बोर्ड में अकेले ही टाटा के प्रतिनिधि रहें। उनकी यह योजना सोची-समझी था और इस पर वे बीते चार साल से काम कर रहे थे।

मिस्त्री के ऑफिस ने क्या कहा:

Posted By: Praveen Dwivedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस