नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। मंगलवार का दिन न केवल भारतीय शेयर बाजार के लिए बुरा रहा, बल्कि अर्जेंटीना के लिए यह ऐतिहासिक ''ब्लैक डे'' साबित हुआ। राष्ट्रपति पद के लिए प्रथामिक चुनाव में राष्ट्रपति मौरिसियो मैक्री की हार के बाद वहां का शेयर बाजार भरभरा कर गिर पड़ा। अर्जेंटीना का शेयर बाजार एक दिन के भीतर 48 फीसदी टूट गया, जो दुनिया भर के शेयर बाजार के 70 सालों के इतिहास में दूसरी बड़ी त्रासदी है।

अर्जेंटीना का शेयर बाजार एसएंडपी मर्वेल इंडेक्स एक दिन में 48 फीसदी तक टूट गया। इससे पहले दिन भर के कारोबार में इतनी बड़ी गिरावट 1989 में श्रीलंकाई शेयर बाजार में आई थी, जब जून 1989 में श्रीलंका का शेयर बाजार 60 फीसदी टूट गया था। श्रीलंका के शेयर बाजार में आई यह गिरावट वहां के गृह युद्ध का नतीजा था।

ब्लूमबर्ग डेटा के मुताबिक दुनिया भर के 94 स्टॉक एक्सचेंज में आई ऐतिहासिक गिरावट का यह 70 सालों के भीतर दूसरा मामला है।

1989 में श्रीलंका का ''श्रीलंका स्टॉक मार्केट कोलंबो ऑल शेयर इंडेक्स'' 61.7 फीसदी टूट गया था।

2019 में अर्जेंटिना के ''एसएंडपी मर्वेल इंडेक्स'' में 48 फीसदी की गिरावट आई है।

2002 में ''एसएंडपी मर्वेल इंडेक्स'' में आई थी 45.2 फीसदी की गिरावट।

''द कजाखस्तान स्टॉक एक्सचेंज इंडेक्स'' (केएएसई) में 2002 में एक दिन के भीतर आई थी 38.6 फीसदी की गिरावट।

2004 में ''मंगोलिया स्टॉक एक्सचेंज टॉप 20 इंडेक्स'' ने लगाया था 35.4 फीसदी का गोता।

गौरतलब है कि मंगलवार को भारतीय शेयर बाजार में जबरदस्त गिरावट आई। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का सेंसेक्स जहां 623.75 अंक टूटकर 36,958.16 अंकों पर बंद हुआ, वहीं नेेशनल स्टॉक एक्सचेंज का बेंचमार्क इंडेक्स निफ्टी 183.80 अंकों की गिरावट के साथ 10,925.85 पर बंद हुआ।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek Parashar