नई दिल्ली, एएनआइ। वेतन और प्रमोशन से नाखुश एयर इंडिया के 120 पायलटों ने सामूहिक रूप से इस्तीफा दे दिया है। एयरबस A-320 के 120 पायलटों ने सैलरी और प्रमोशन में बढ़ोतरी को लेकर प्रबंधन से अपनी मांग रखी थी, मांग पूरी न होने के बाद पायलटों ने प्रबंधन को अपना इस्तीफा सौंप दिया। एयर इंडिया के पायलटों द्वारा यह कदम तब उठाया गया है जब केंद्र सरकार की ओर से 60 हजार करोड़ रुपये से अधिक के कर्ज में फंसी इस विमानन कंपनी की हिस्सेदारी बेचने की प्रक्रिया शुरू करने का फैसला लिया गया है।

इस्तीफा देने वाले एक पायलट ने एएनआइ को बताया, 'एयर इंडिया प्रबंधन को हमारी शिकायतें सुननी चाहिए। हमारी मांग थी कि वेतन में इजाफा किया जाये और प्रमोशन हो, यह मांग लंबे समय से लंबित पड़ी है, लेकिन हमें प्रबंधन की ओर से कोई ठोस भरोसा नहीं दिया गया जिसके बाद हमने यह कदम उठाया।' पायलट ने कहा कि समय पर वेतन नहीं मिल पा रही है। उन्होंने कहा कि पायलटों को पहले 5 साल के लिए कॉन्ट्रैक्ट पर कम वेतन पर रखा जाता है। हमें उम्मीद थी कि हमारी सैलरी बढ़ेगी और प्रमोशन होगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

नौकरी छोड़ रहे पायलटों ने भरोसा जताया कि उन्हें कहीं और नौकरी मिल जाएगी, क्योंकि बाजार में विकल्प मौजदू हैं। इस समय गो एयर, इंडिगो एयर, विस्तारा, एयर एशिया, इंडियन एयरलाइंस जैसी कंपनियां एयरबस 320 का संचालन कर रही हैं।

एयर इंडिया के पायलटों द्वारा सामूहिक इस्तीफे से विमानन कंपनी की सेवा पर क्या असर होगा, इस सवाल के जवाब में एयर इंडिया के प्रवक्ता ने कहा है कि हमारे पास अतिरिक्त पायलट हैं। सामूहिक इस्तीफों से परिचालन पर असर नहीं होगा। एयर इंडिया के पास इस समय 2000 पायलट हैं, जिनमें से 400 एग्जिक्युटिव हैं।

 

Posted By: Nitesh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप