नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। आदित्य बिरला सन लाइफ म्यूचुअल फंड ने निफ्टी 50 इक्वल वेट इंडेक्स फंड की शुरुआत की है। यह एक ओपन एंडेड स्कीम है। यह केवल निफ्टी 50 इक्वेल वेट इंडेक्स को ट्रैक करेगी। यह नया फंड ऑफर 19 मई को खुला है और दो जून को बंद होगा। निफ्टी 50 इंडेक्स के सभी घटक निफ्टी 50 इक्वल वेट इंडेक्स का हिस्सा है। लेकिन निफ्टी 50  मार्केट कैपिटलाइजेशन पर आधारित है जिसमें स्टॉक का वेटेज इंडेक्स में उतना ज्यादा होता है जितना कि कंपनी का बाजार पूंजीकरण। इक्वल वेट इंडेक्स उन सभी को समान रूप से मानता है। इस इंडेक्स में निफ्टी 50 इंडेक्स के सभी घटक कंपनियों का 2% आवंटन रहता है।  

इस चीज का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि किसी एक सेक्टर का बड़े पैमाने पर प्रतिनिधित्व नहीं होता हैं और स्टॉक लेवल पर ज्यादा डाइवर्सिफिकेशन मिलता है। यह किसी एक स्टॉक और कोई भी एक सेक्टर के Concentration Risk को काफी कम कर देता है। निफ्टी-50 के आधार पर इंडेक्स ऑटोमैटिक रूप से हर 6 महीने में फिर से सेट किए जाते हैं, जो टॉप मूवर्स के नेचुरल सेलेक्शन की अनुमति देता है।  

निफ्टी 50 में एनएसई में लिस्टेड टॉप 50 कंपनियां शामिल होती हैं। ये सभी कंपनियां ब्लूचिप होती हैं। इसका मतलब है कि ये कंपनियां आकार में काफी बड़ी होती हैं। इनमें कुल 13 सेक्टर में से चुनी गई 50 कंपनियों के शेयर शामिल होते हैं। निफ्टी 50 इक्वल वेट इंडेक्स में भी यही सेम स्टॉक होते हैं।

आदित्य बिरला सन लाइफ एएमसी लिमिटेड के MD-CEO ए बालासुब्रमणियम ने कहा कि 50 लार्ज कैप कंपनियों में बराबर अलोकेशन की वजह से सिर्फ कुछ बड़ी कंपनियों के प्रदर्शन के ऊपर पर भरोसा करने के बजाय व्यापक आधार के ग्रोथ के अवसरों का लाभ मिल सकता है।

Edited By: Ankit Kumar