नई दिल्ली (एजेंसी): गोदरेज चेयरमैन आदि गोदरेज ने जीएसटी को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को थोड़ा और टालने की दलीलें वो लोग दे रहे हैं जो टैक्स की बचत करना चाहते हैं। उन्होंने जीएसटी की तारीख को बढ़ाने के सुझाव को हास्यास्पद बताया है। गौरतलब है कि केंद्र सरकार जीएसटी कानून को 1 जुलाई ही लागू करना चाहती है लेकिन कुछ उद्योगों का सुझाव है कि इसे अक्टूबर तक बढ़ा दिया जाए।

क्या बोले गोदरेज:

उन्होंने कहा, “नई कर व्यवस्था के मुताबिक हर किसी के पास तैयारी के लिए पर्याप्त समय है। पहले यह एक अप्रैल से लागू होना था और अब इसे एक जुलाई को लक्षित किया गया है। मैंने पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम का एक बयान देखा है। उनके जीएसटी को एक अक्टूबर से लागू करने के सुझाव के बारे में मेरा मानना है कि यह बहुत ही हास्यास्पद होगा।”

जीएसटी में और देरी न हो:

उन्होंने आगे कहा कि सबसे पहली बात यह है कि जीएसटी के लिए संविधान में किया गया संशोधन सितंबर में समाप्त हो जाएगा। इसलिए हमें इसमें और देरी नहीं करनी चाहिए। आपको बता दें कि जीएसटी संविधान संशोधन अधिनियम के मुताबिक देश में अप्रत्यक्ष करों को समाप्त कर जीएसटी लाने की आखिरी तारीख 30 सितंबर तय है। उसके बाद देश के सारे अप्रत्यक्ष कर इसी में समाहित हो जाएंगे। 

Posted By: Praveen Dwivedi