नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड्स ट्रांसफर सिस्टम यानी NEFT की सुविधा को 24 घंटे और सातों दिन करने के बाद अब भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने बैंकों को निर्देश दिया है कि वे बचत खाता धारकों के लिए NEFT और RTGS के जरिए होने वाली सभी ऑनलाइन पेमेंट्स को मुफ्त करें। कई बैंकों ने इसे पहले से ही मुफ्त कर रखा है और अब बाकी बचे बैंकों को अगले महीने से ऐसा करने को कहा गया है।

आरबीआई ने इस सप्ताह जारी एक नोटिफिकेशन में कहा, 'डिजिटल रिटेल पेमेंट्स को बढ़ावा देने के लिए यह निर्णय लिया गया है कि सदस्य बैंक अपने बचत खाता धारकों द्वारा ऑनलाइन एनईएफटी सिस्टम के जरिए फंड ट्रांसफर करने पर कोई शुल्क नहीं लेंगे।' यह नया नियम नए साल अर्थात एक जनवरी 2020 से प्रभावी होगा।

ये हैं एनईएफटी चार्जेज

जुलाई महीने में आरबीआई ने एनईएफटी और आरटीजीएस ट्रांजेक्शंस के लिए बैंकों से लिये जाने वाले सभी चार्जेज को हटा दिया था। आरबीआई ने बैंकों को निर्देश दिया था कि वे इस फायदे को जनता तक पहुंचाएं। इसके बाद एसबीआई (SBI) और आईसीआईसीआई बैंक (ICICI BANK) ने ऑनलाइन एनईएफटी लेनदन को फ्री कर दिया। भारत के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने योनो (YONO), इंटरनेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग ग्राहकों के लिए आईएमपीसी (IMPS), आरटीजीएस और एनईएफटी के जरिये ट्रांजेक्शन को फ्री किया हुआ है। इसी तरह एचडीएफसी बैंक (HDFC BANK) भी एनईएफटी ट्रांजेक्शंस पर कोई चार्जेज नहीं लेता है।

यह है एनईएफटी का समय

भारतीय रिज़र्व बैंक ने अब ग्राहकों को 24 घंटे सातों दिन एनईएफटी से ट्रांजेक्शन करने की सुविधा दी है। अब ग्राहक छुट्टियों के दिनों सहित साल में किसी भी दिन, किसी भी समय एनईएफटी के जरिए ट्रांजेक्शन कर सकते हैं। इससे पहले एनईएफटी से लेनदेन केवल बैंक के कामकाजी दिनों के दौरान सुबह आठ बजे से साढ़े छह बजे तक था।

Posted By: Pawan Jayaswal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस