नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) के पहला कदम और पहली उड़ान नाम के बचत खाते खासतौर पर बच्चों के लिए ही है। इस खाते को वर्ष 2017 में लॉन्च किया गया था। इसके तहत 18 वर्ष से कम आयु के बच्चों का खाता खोला जा सकता है। पहला कदम खाता 18 वर्ष से कम आयु के इंडिविजुअल के नाम से खोला जा सकता है। वहीं पहली उड़ान खाता 10 वर्ष से ऊपर की आयु के बच्चों के लिए है। यह जानकारी एसबीआई की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध है। जानकारी के लिए बता दें कि इन दोनों खातों में मंथली एवरेज बैलेंस रखने की अनिवार्यता नहीं होती है।

जानिए इससे जुड़ी पांच बड़ी बातें-

योग्यता: पहला कदम खाते के तहत कोई भी नाबालिग अपने माता-पिता या अभिभावक के साथ संयुक्त खाता खोल सकता है। साथ ही इस खाता का संचालन माता-पिता या अभिभावक के साथ किया जा सकता है। वहीं पहली उड़ान में केवल 10 वर्ष से ऊपर की आयु के नाबालिग के नाम पर ही खाता खोला जा सकता है। इस खाते का केवल वही संचालन कर सकता है जिसके नाम पर खाता खोला गया है।

इंटरनेट बैंकिंग: पहला कदम और पहली उड़ान में प्रति दिन की ट्रांजैक्शन लिमिट 5000 रुपये है। इसके तहत व्यक्ति बिल का भुगतान, इंटर बैंक फंड ट्रांसफर (केवल एनईएफटी) और डिमांड ड्राफ्ट बनवा सकता है।

चेक बुक सुविधा: पहला कदम- इस खाते के तहत 10 चेक वाली चेकबुक जारी होती है। यह चेकबुक अभिभावक को नाबालिग के नाम पर दी जाती है।

पहली उड़ान: इस खाते के तहत भी 10 चेक वाली चेकबुक जारी की जाती है। यह तभी जारी की जाती है अगर नाबालिग हस्ताक्षर करने में समर्थ है।

एटीएम कम डेबिट कार्ड: पहला कदम और पहली उड़ान खातों में एटीएम कम डेबिट कार्ड सुविधा दी जाती है। कार्ड पर बच्चे का फोटो भी होता है। यह बच्चे और अभिभावक के नाम पर इश्यू होता है। इस कार्ड से पैसे निकालने की लिमिट 5000 रुपये है। साथ ही बता दें कि इन खातों से बच्चा 2000 रुपये तक का भुगतान या टॉप अप कर सकता है। इन दोनों खातों पर मिलने वाला ब्याज बचत खाते जितना ही होता है।

Posted By: Surbhi Jain