नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। निजी क्षेत्र के बड़े बैंक HDFC ने विभिन्न टेन्योर के लिए अपने MCLR में 10 बेसिस पॉइंट्स तक की कटौती का एलान किया है। बैंक ने अपनी वेबसाइट पर इसकी जानकारी दी है। 6 महीने के MCLR के लिए 5 बेसिस पॉइंट्स की कटौती की गई है, जिसके बाद यह 8.1 फीसद हो गया है। 1 साल की अवधि के लिए भी 5 बेसिस पॉइंट्स की कटौती करके इसे 8.3 फीसद किया गया है। जबकि बैंक ने 2 साल के टेन्योर के लिए 5 बेसिस पॉइंट्स की कटौती की है और 3 साल की अवधि के लिए 10 बेसिस पॉइंट्स की कटौती का एलान किया है। अब दोनों अवधि के लिए नई दरें क्रमशः 8.4 फीसद और 8.5 फीसद हैं। बदली गई नई दरें 7 नवंबर से प्रभावी हैं।

बैंक की ओर से एक रात, एक महीना और 3 महीने के MCLR में कोई बदलाव नहीं किया गया है। HDFC ने आखिरी बार अगस्त में अपने MCLR में कटौती की थी। तब बैंक ने सभी टेन्योर के लिए लगभग 10 बेसिस पॉइंट्स कटौती की थी।

गौरतलब है कि इस साल की शुरुआत से अब तक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने रेपो रेट में पांच बार कटौती की है। केन्द्रीय बैंक ने अब तक कुल 135 बेसिस पॉइंट्स की कटौती की है। केन्द्रीय बैंक ने रेपो रेट में कटौती के बाद सभी बैंकों से कहा है कि वह कटौती का लाभ तुरंत ग्राहकों को दें। दरअसल, आरबीआई को ऐसी शिकायत मिली थी कि बैंक रेपो रेट में कटौती का पूरा लाभ ग्राहकों को नहीं दे रहे हैं।  

Posted By: Nitesh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप