नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) में  एक ऐसा खाता भी संचालित होता है जो कि अपने ग्राहकों को कई सुविधाएं फ्री में देता है। इसके बारे में कम ही लोग जानते हैं। एसबीआई के इस खाते का नाम बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट एकाउंट (बीएसबीडीए) है।

जानिए क्या होता है बीएसबीडीए:

बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट एकाउंट (बीएसबीडीए) केंद्र सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से आम जनता के लिए शुरू की गई खास स्कीम है। इसका उदेश्य गरीबों तक बैंकिंग सेवा पहुंचाने के लिए देश में जितने नो फ्रिल खाते खोले गए हैं, उन्हें इस स्कीम के दायरे में लाना है। इसे जीरो बैलेंस एकाउंट भी कहा जाता है। इसमें बैंक ग्राहकों की सामान्य जरूरतों का मुफ्त एटीएम, मासिक स्टेटमेंट और चेक बुक के जरिए ध्यान रखता है।

कौन सी सर्विसेज मिलेंगी फ्री-

  • ग्राहकों को सामान्य रुपे एटीएम कम डेबिट कार्ड मुफ्त में जारी किया जाएगा। इसपर किसी भी तरह से कोई भी सालाना मेंटेनेंस चार्जेस नहीं लगाए जाएंगे। डेबिट कार्ड इस्तेमाल करने के कोई चार्जेस नहीं लगते हैं। जबकि सामान्य खातों के लिए 100 रुपये से 300 रुपये तक चार्ज किये जाते हैं।
  • इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट चैनेल्स जैसे एनईएफटी/आरटीजीएस के माध्यम से लेनदेन पर कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा।
  • केंद्रीय या राज्य सरकार की ओर से तैयार Cheque को निकालते और जमा करते समय कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा।
  • इनऑपरेटिव खातों को फिर से एक्टिवेट कराने पर ग्राहकों से किसी भी तरह का कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा।
  • सामान्य बचत खाते की तरह आप इस एकाउंट में इंटरनेट बैंकिंग की सुविधा का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस एकाउंट को बंद करने पर भी कोई शुल्क नहीं लगता है।

जानिए अन्य जरूरी बातें-

बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट एकाउंट (बीएसबीडीए) सामान्य बचत खाते से अलग होता है। इसमें मिनिमम बैलेंस की जरूरत नहीं होती है। आमतौर पर कई बैंकों में यह अनिवार्य होता है और इसके कम होने पर पेनल्टी भी लगाई जाती है। जबकि बीएसबीडीए में इस तरह की कोई अनिवार्यता नहीं है।

Posted By: Surbhi Jain