नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। आदित्य बिरला के आइडिया पेमेंट बैंक ने काम करना शुरू कर दिया है। अगस्त 2015 में पेमेंट बैंक का संचालन शुरू करने के लिए करीब 11 कंपनियों को लाइसेंस दिए गए थे। इससे पहले तीन और कंपनियां अपने पेमेंट बैंक का संचालन शुरू कर चुकी हैं। रिजर्व बैंक की ओर से जारी की गई रिलीज में कहा गया है कि आदित्य बिरला का आइडिया पेमेंट बैंक 22 फरवरी 2018 से ही संचालन में आ चुका है।

आइडिया का पेमेंट बैंक चौथी कंपनी: पेमेंट बैंक की सेवा देने के मामले में आइडिया चौथी कंपनी है। इससे पहले एयरटेल पेमेंट बैंक, पेटीएम पेमेंट्स बैंक और फिनो पेमेंट बैंक अपना संचालन शुरू कर चुके हैं। इंडिया पोस्ट का पेमेंट बैंक भी जल्द ही अपनी सेवाएं शुरू कर सकता है।

पेमेंट बैंक खोलने वाली दूसरी टेलिकॉम कंपनी बनी आइडिया: टेलिकॉम क्षेत्र की प्रमुख कंपन भारती एयरटेल पहली ऐसी टेलिकॉम कंपनी थी जिसने नवंबर 2016 में अपना संचालन शुरू कर दिया था। इस कड़ी में इस तरह के क्षेत्र में उतरने वाली आदित्य बिरला की आइडिया सेल्युलर दूसरी टेलिकॉम कंपनी है।

RBI ने किन्हें दिया था लाइसेंस:

  • आदित्य बिरला नूवो लिमिटेड
  • एयरटेल एम कॉमर्स सर्विस लिमिटेड
  • कोलमंडलम डिस्ट्रीब्यूशन सर्विस लिमिटेड
  • डिपार्टमेंट ऑफ पोस्ट
  • फीनो पेटैक लिमिटेड
  • नेशनल सिक्योरिटी डिपॉडिटरी लिमिटेड
  • रिलायंस इंडस्ट्री लिमिटेड
  • दिलीप शांतिलाल शांघवी
  • विजय शेखर शर्मा
  • टेक महिंद्रा लिमिटेड
  • वोडाफोन एमपैसा लिमिटेड

जियो और नेशनल सिक्योरिटी डिपॉडिटरी लिमिटेड भी तैयार: यह जानकारी भी सामने आ रही है कि रिलायंस जियो भी जल्द अपना पेमेंट बैंक शुरू कर सकती है। वहीं नेशनल सिक्योरिटी डिपॉडिटरी लिमिटेड का पेमेंट बैंक मार्च के अंत तक शुरू हो सकता है।

क्या होते है पेमेंट बैंक: ये छोटे प्रकार के बैंक होते हैं, जो मुख्य रूप से मोबाइल फोन के माध्यम से ग्राहकों तक अपनी पहुंच बनाते हैं, इसमें सुविधाओं का लाभ लेने के लिए परंपरागत रुप से बैंक ब्रांच तक पहुंचने की जरूरत नहीं होती है।

पेमेंट बैंक क्या कर सकते हैं और क्या नहीं:

  • लोन की पेशकश नहीं कर सकते हैं। आपके खाते में एक लाख रुपए तक की राशि जमा कर सकते हैं और आम बैंकों के सेविंग खातों की ही तरह जमा राशि पर ब्याज का भुगतान कर सकते हैं।
  • इसमें सिर्फ मोबाइल फोन के माध्यम से पैसे स्थानांतरित और भेजे जा सकते हैं।
  • ये तमाम तरह की सेवाएं आपको उपलब्ध करवाते हैं जैसे कि आप इसके जरिए बिलों का भुगतान कर सकते हैं, बिना नकदी के कोई सामान खरीद सकते हैं और मोबाइल फोन के माध्यम से चैकलेस ट्रांजेक्शन कर सकते हैं।
  • ये डेबिट और एटीएम कार्ड भी जारी कर सकते हैं जिन्हें आप सभी बैंकों की एटीएम मशीन में जाकर इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • ये सीधे तौर पर बैंक खातों में पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं, बैंक से जोड़ने वाले इस गेटवे के लिए कोई भी शुल्क नहीं लगता है।
  • ये यात्रियों को विदेशी मुद्रा कार्ड प्रदान कर सकते हैं, जिसका इस्तेमाल डेबिट और एटीएम कार्ड के तौर पर पूरे भारत में कहीं भी किया जा सकता है।
  • ये अन्य बैंकों की तुलना में कम शुल्क पर विदेशी मुद्रा सेवाएं प्रदान कर सकते हैं।
  • वे थर्ड पार्टी के लिए कार्ड स्वीकृति तंत्र (मैकेनिज्म) भी प्रदान कर सकते हैं जैसे कि 'ऐप्पल पे’। 

Posted By: Praveen Dwivedi