बगहा। कोरोना वायरस से बचाव के लिए 18 वर्ष के उपर वालों के लिए एक माई से शुरू हुए टीकाकरण का लाभ अभी तक ग्रामीणों को नहीं मिल पाया है। मुख्यालय स्तर पर मात्र दो जगह शहर में ही कैंप की व्यवस्था की गई है। इधर संपूर्ण लॉकडाउन के कारण ग्रामीण कैंपों तक नहीं पहुंच पा रहे हैं। जिसके पास निजी सवारी है तो, वह आसानी से मुख्यालय पहुंच जाते। लेकिन, बस-ऑटो आदि सवारी नहीं चलने के कारण बिना संसाधन वाले ग्रामीणों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। ऐसे में बैरागी सोनबरसा, लक्ष्मीणपुर ढोलबजवा, वैराटी बरिअरवा, जिमरी नौतनवा, पैकवलिया मर्यादपुर आदि पंचायत के दर्जनों ग्रामीणों ने वर्तमान टीकाकरण व्यवस्था को लेकर रोष जताई है। सभी पंचायतों से करीब 30-35 किलोमीटर दूर टीकाकरण कैंप है। ग्रामीणों ने अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चिउटाहां, सेमरा व नौतनवा आदि केंद्रों पर कैंप लगाने की मांग की है। पूर्व में इन केंद्रों पर 45 से अधिक उम्र वाले बहुत से लोगों को टीका लग चुका है। अब उनके दूसरे डोज की तिथि भी नजदीक आ रही है। ऐसे में ये भी लोगों दूसरे डोज के लिए चितित है। बुजुर्ग शहर में जाने से भी संक्रमण के कारण डर रहे हैं। शिक्षक मोहनलाल राम, शंभूशरण शर्मा, नाबार्ड परियोजना प्रबंधक मानेश्वर कुमार पांडेय, समाजसेवी बडे़लाल मिश्र, राकेश कुमार, सुरेंद्र उरांव आदि ने बताया कि वैरागी सोनबरसा पंचायत के मुखिया वार्तालाप की। मुखिया गोरखनाथ उरांव ने बताया कि इस संदर्भ में लगातार वरीय पदाधिकारियों से संपर्क कर शीघ्र ही उपस्वास्थ्य केंद्रों पर भी कैंप की व्यवस्था का मांग की गई है।

Edited By: Jagran