मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

बगहा । रामनगर के उत्तरांचल में अवस्थित सोमेश्वर पहाड़ पर माता कालिका के दरबार में माथा टेकने के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ गई है। एक दिन पूर्व बारिश के कारण रास्ता खराब होने की वजह से प्रशासन की ओर से सोमेश्वर धाम यात्रा पर रोक लगा दी गई थी। बुधवार को मौसम ठीक होने के बाद रोक को हटा लिया गया। भारी संख्या में श्रद्धालुओं का जत्था सोमेश्वर धाम के लिए रवाना हुआ। चैत नवरात्र के पांचवे दिन करीब एक हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने माता के दर्शन किए। दुर्गम पहाड़ी और ऊंची चढ़ाई को पार श्रद्धालु माता के दर्शन को पहुंचे। जंगली क्षेत्र माता की जयकारे से गूंज उठा है। श्रद्धालुओं की सुरक्षा के मद्देनजर वन विभाग की ओर इंट्री गेट बनाया गया है। मुख्य दरवाजे पर श्रद्धालुओं की एंट्री हो रही है। सुबह 6 बजे से शाम 3 बजे तक ही इस रास्ते से आवाजाही हो रही है। गोब‌र्द्धना रेंजर मानवेंद्रनाथ चौधरी ने बताया कि सोमेश्वरधाम जाने वाले श्रद्धालुओं को सुरक्षा के दृष्टिकोण से सुबह 6 बजे से संध्या 3 बजे तक जाने की अनुमति दी गई है। यात्रियों की सुरक्षा के लिए जंगल में कई जगहों पर वनकर्मियों को तैनात किया गया है। एसएसबी के जवान भी जंगल के रास्ते में गश्त लगा रहे हैं। एक दिन पूर्व बारिश के कारण रास्ता खराब होने की वजह से सोमेश्वर धाम यात्रा पर रोक लगा दी गई थी। बुधवार को मौसम ठीक होने के बाद रोक को हटा लिया गया। भारी संख्या में श्रद्धालुओं का जत्था सोमेश्वर धाम के लिए रवाना हुआ।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप