बेतिया। बैरिया थाना क्षेत्र के एक गांव की युवती को अपनी बहन के देवर से प्यार करने की बड़ी सजा मिली है। प्रेमी उसे शादी का झांसा देकर अपने घर बुलाकर ले गया और अब दहेज के लिए शादी करने से इन्कार कर दिया है। पीड़िता को धक्का मार कर घर से निकाल दिया है। मामले में पीड़िता की शिकायत पर बैरिया थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। थानाध्यक्ष अमित कुमार ने बताया कि मियांपुर तिलंगही के वसीम अख्तर, मजहर हुसैन, सफी अख्तर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी गई है। पीड़िता ने बताया कि उसकी बड़ी बहन की शादी मियांपुर तिलंगही के मजहर हुसैन के पुत्र वली अख्तर से हुई है। शादी के बाद बहनोई का छोटा भाई वसीम अख्तर उसके घर आता था। वह शादी का झांसा देकर युवती को घुमाने के लिए ले जाता था। इसी बीच दोनों में प्यार हो गया। प्यार ऐसा परवान चढ़ा कि वह अपनी बहन के देवर से शादी करने के जिद पर अड़ गई। आखिरकार दोनों के परिजन भी शादी के लिए राजी हो गए। उपहार मिलने के बाद 8 फरवरी को आरोपित वसीम अख्तर युवती के घर आया और शादी का वादा कर उसे अपने घर बुला ले गया। घर लाने के बाद दहेज में और एक लाख रुपये की मांग करने लगा। रुपये देने में असमर्थता जताने पर युवती को धक्का देकर घर से निकाल दिया। युवती को घर के दरवाजा पर रोते देख आसपास के लोगों ने इसकी जानकारी उसके पिता को दी। सूचना पर आए युवती के पिता उसे बुला कर वापस घर ले गए।

------------------------------------------------

मेरे प्रेमी की शादी रोकवा दीजिए थानेदार साहब बैरिया थाने में पहुंची पीड़िता फफक कर रो पड़ी। उसने कहा कि मेरे प्रेमी की शादी 23 फरवरी को दूसरी लड़की से हो रही है। उसने थानेदार से निवेदन किया कि किसी तरह उसकी शादी रोकवा दीजिए। उसने बताया कि आरोपित फोन पर जान मारने की धमकी दे रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस