बगहा। नेपाल के तराई क्षेत्र व जंगल के साथ पहाड़ों पर हो रही लगातार बारिश से थरुहट क्षेत्र की पहाड़ी नदियों का जलस्तर बढ़ गया है। जलस्तर बढ़ने से थरुहट के कई इलाकों में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई हैं। पहाड़ी नदी के किनारे पर बसे कई गांवों में पानी के तेज बहाव से सड़कें टूट गई हैं। तो दूसरी ओर बाढ़ की वजह से प्रतिदिन कटाव भी हो रहा है। बाढ़ की आशंका से ग्रामीण भयभीत है। बगहा दो प्रखंड के नौरंगिया दरदरी पंचायत के पचफेड़वा गांव में तो स्थिति भयावह हो गई है। अगर लगातार बारिश होती रही तो किसी भी वक्त प्रखंड मुख्यालय से सड़क संपर्क टूट सकता है। पहाड़ी नदी में आने वाली बाढ़ की तेज धारा उक्त सड़क का रोज कटाव कर रही है। अभी बाढ़ से हुई कटाव के कारण फिलहाल खेत वाले सड़क का 20 फीट तक का हिस्सा कटाव में तब्दील होकर नदी में विलीन हो चुका है। जब जब बारिश होती है तब तब सड़क का एक बड़ा भाग कट कर नदी में विलीन हो जाता है। आलम यह है कि ग्रामीणों का रैयती खेत आज के समय में सड़क बना हुआ है। जिससे न जाने कितनी फसल बर्बाद हो गई। हालात यह है कि अगर लगातार बरसात होते रही तो पचफेड़वा-बेरई मुख्य सड़क के साथ साथ उक्त गांव का भी आस्तित्व मिट सकता है। ऐसा नहीं है कि इस क्षेत्र के ग्रामीणों ने इस सड़क के निर्माण, गाइड बांध व पुल पुलिया निर्माण की मांग नहीं उठाई है।

------------------------------------------------------------------

कटाव के कारण वाहनों की आवाजाही बंद पचफेड़वा गांव के लिए पहाड़ी घुटरी नदी बहुत बड़ी समस्या है। इस सड़क पर लगातार कटाव से आए दिन दुर्घटना होते रहती है। आज स्थिति ऐसी है कि इस सड़क से चार पहिया वाहनों का आवागमन पूरी तरह बंद है। जबकि दो पहिया वाहन जैसे तैसे इस सड़क से होकर गुजरते हैं। इसी रास्ते से होकर स्कूली बच्चे व आम जन होकर गुजरते हैं। सड़क पर कटाव होने से अक्सर लोग नदी में भी गिर जाते हैं। जिससे उनकी जान पर बन आती है। इधर इस स्थिति से अवगत होते हुए पचफेड़वा गांव के ग्रामीण बीरेंद्र खतईत, जगरनाथ महतो, सोमेश्वर खतईत, दिलीप महतो, श्यामसुंदर महतो आदि का कहना है कि अगर शीघ्र इस बार घुटरी नदी पर गाइड बांध बना पक्की सड़क का निर्माण नहीं किया गया तो बची सड़क भी नदी में विलीन हो जाएगी। ग्रामीणों ने सीएम को चिट्ठी लिखा है।

--------------------------

बयान :

पचफेड़वा गांव से बेरई गांव तक जोड़ने वाली सड़क को पक्कीकरण और घुटरी नदी पर बांध निर्माण कराने के लिए विभाग और स्थानीय विधायक व सांसद से पहल की मांग की गई है। विभाग व नेताओं द्वारा शीघ्र ही इस समस्या का निदान करना चाहिए। ताकि ग्रामीणों की कठिनाइयों को दूर किया जा सके।

बिहारी महतो, मुखिया

नौरंगिया दरदरी पंचायत

Posted By: Jagran