बगहा। कोरोना संकट के बीच स्कूलों में 21 जनवरी तक अवकाश की घोषणा कर दी गई है। ऐसे में घर बैठे बच्चों के लिए विभाग ने दूरदर्शन के माध्यम से कक्षाओं की शुरुआत सोमवार को की। डीडी बिहार पर 'मेरा दूरदर्शन मेरा विद्यालय' कार्यक्रम की शुरुआत हुई। सुबह नौ से 10 बजे के बीच कक्षा छह से आठ तक के बच्चों के लिए पाठ्यपुस्तक से जुड़ा सीधा प्रसारण किया गया। इसके बाद सुबह 10 से 11 बजे तक कक्षा नौ व 10 तथा 11 बजे से दोपहर 12 बजे तक कक्षा 11 व 12 के बच्चों के लिए पठन-पाठन सामग्री उपलब्ध कराई गई। बगहा दो बीईओ जनार्दन प्रसाद निराला, बीआरपी शैलेंद्र कुमार व पिटू कुमार ने बताया कि सभी शिक्षकों को यह निर्देश दिया गया है कि वे अपने अपने पोषक क्षेत्र में व्यापक प्रचार प्रसार करें ताकि दूरदर्शन पर प्रसारित हो रहे कार्यक्रम का लाभ अधिक से अधिक बच्चे उठा सकें। इसके अलावा शिक्षकों को यह भी टास्क दिया गया है कि वे बच्चों तथा अभिभावकों को ई-लॉट्स एप की जानकारी दें। इस ऐप पर कक्षा 01 से 12 तक की सभी पाठ्य पुस्तकें उपलब्ध हैं। इस एप के माध्यम से भी बच्चों घरों पर अपनी पढ़ाई जारी रख सकते हैं। बीआरपी पिटू कुमार ने बताया कि विद्यालय संचालन बाधित होने के बावजूद बच्चों की पढ़ाई जारी रखने की कोशिश की जा रही है। इसमें संचार साधनों का सहारा लिया जा रहा। टोला सेवकों की जवाबदेही तय :-

कक्षा 01 से 05 तक के जिन बच्चों के पास आवश्यक संसाधन उपलब्ध नहीं हैं उनके लिए टोला सेवकों व तालिमी मरकज स्वयंसेवकों की जवाबदेही तय की गई है। बीआरपी ने बताया कि ऐसे बच्चों को पढ़ाने के लिए टोला सेवक व तालिमी मरकज स्वयंसेवक टोलों में भ्रमण कर शिक्षण कार्य में मदद करेंगे। इसकी मॉनीटरिग केआरपी और प्रधान शिक्षक के माध्यम से की जाएगी। प्रखंड के सभी शिक्षकों को भी विभाग के इस आदेश से अवगत करा दिया गया है।

Edited By: Jagran