वैशाली : वैशाली प्रखंड की मतैया पंचायत के हौजपुरा गांव के बीपीएल परिवार आने वाले दशरथ सिंह का पुत्र विक्की कुमार मैट्रिक की परीक्षा में जिले का टॉपर बना है। श्री हेमन सिंह उच्च विद्यालय चितामणिपुर के छात्र विक्की ने 461 अंक हासिल किया है। कल तक गुमनाम विक्की आज हर चौक-चौराहे पर चर्चा का विषय बना हुआ है। इसके पिता एक गैस एजेंसी में वेंडर हैं। विक्की ने अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता के आशीर्वाद, शिक्षकों के मार्गदर्शन एवं आठ-दस घंटे की पढाई को दिया है। वह आइआइटियन बनना चाहता है।

महनार : मैट्रिक परीक्षा में महनार अनुमंडल के छात्र-छात्राओं ने बेहतर परिणाम हासिल किया है। महनार के उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालय मजलिशपुर के छात्र अमित राज ने मैट्रिक परीक्षा में वैशाली जिले में तीसरा स्थान प्राप्त कर महनार के साथ अपने माता-पिता एवं विद्यालय का नाम रौशन किया है। अमित राज 455 अंक लाकर तीसरा स्थान प्राप्त किया है। मजलिशपुर गांव निवासी सत्यनारायण सिंह एवं उर्मिला देवी का पुत्र अमित राज ग्रामीण परिवेश से है। सभी ने अमित को मिठाई खिलाकर अपनी खुशी का इजहार किया।अमित राज दो बहन के बीच इकलौता भाई है। अमित के पिता सत्यनारायण सिंह ग्रामीण चिकित्सक तथा किसान हैं।माता उर्मिला देवी बीए पास है तथा गृहिणी है। अमित ने जागरण से बातचीत में अपनी सफलता का श्रेय माता पिता और स्कूल के शिक्षकों को दिया। उधर देसरी प्रखंड के भीखनपुरा गांव निवासी गौरीशंकर एवं माधुरी देवी की पुत्री नेहा भारती ने देशरी प्रखंड के उत्क्रमित उच्च माध्यमिक विद्यालय भीखनपुरा में प्रथम स्थान प्राप्त कर सबका सम्मान बढ़ाया है। वह आगे चलकर आइपीएस बनना चाहती है। नेहा भारती के पिता गौरीशंकर कपड़ा दुकान चलाते हैं तो उसकी माता माधुरी देवी गृहिणी है।

सहदेई बुजुर्ग : सहदेई बुजुर्ग पंचायत के वार्ड संख्या आठ निवासी उमाशंकर चौधरी एवं सविता चौधरी की पुत्री खुशबू कुमारी ने प्रखंड के गांधी उच्चतर उच्च माध्यमिक विद्यालय में प्रथम स्थान लाकर अपने गांव, समाज तथा प्रखंड का नाम रोशन किया है।खुशबू कुमारी को 452 अंक प्राप्त हुए हैं। जागरण से बातचीत के दौरान खुशबू कुमारी ने अपनी इस सफलता का श्रेय माता-पिता और अपने विद्यालय के शिक्षकों को देते हुए कहा कि सभी के आशीर्वाद एवं सहयोग के कारण उसने यह कामयाबी हासिल की है।

भगवानपुर : स्थानीय लक्ष्मी नारायण उच्च विद्यालय के छात्र आयुष ने बिहार बोर्ड 10 वीं की परीक्षा में 394 अंक लाकर विद्यालय ही नहीं प्रखंड के नाम रोशन किया है। आयुष प्रखंड के वारिशपुर निवासी पूर्व विज्ञान शिक्षक रामलखन यादव का पौत्र तथा अमरनाथ कुमार एवं सुनीता देवी का पुत्र है। अपनी सफलता का श्रेय अपने दादा एवं विद्यालय के शिक्षकों को दिया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस