वैशाली [जेएनएन]। आपने 'जाको राखे साइयां मार सके न कोय...' वाली कहावत जरूर सुनी होगी। ऐसा हकीकत में हुआ बिहार के वैशाली में, जब एक वृद्ध के ऊपर से धड़धड़ाते हुए पूरी ट्रेन गुजर गई और इसके बाद वे उठकर कपड़े झाड़ने लगे। घटना को देखने वाले स्‍थानीय लोगों को आंत‍िरिक चोट की आशंका हुई तो उन्‍होंने उन्‍हें पुलिस की मदद से अस्‍पताल पहुंचाया, लेकिन डॉक्‍टरों ने उन्‍हें स्‍वस्‍थ करार दिया। उन्‍हें केवल सिर में हल्‍की चरेट आई है।
गलती से रेल ट्रैक पर गिरे
हाजीपुर के अंजानपीर मोहल्ला निवासी 60 वर्षीय मो. युनूस शनिवार को किसी कार्यवश अपने घर से बाजार गए थे। अपना काम निबटाकर वे डाकबंगला रोड होते हुए माल गोदाम के निकट पहुंचे और  घर अंजानपीर जाने के लिए चल दिए। जैसे ही रेलवे लाइन के निकट पहुंचे,उन्‍होंने रेलवे गुमटी को बंद तथा हाजीपुर स्टेशन की ओर से दूर एक ट्रेन को आते देखा। ट्रेन को दूर देख वे तेज कदमों से रेल लाइन पार करने लगे, लेकिन हड़बड़ाहट में उनका पैर रेल ट्रैक में फंस गया। वे वहीं गिर गए। जब तक उठते ट्रेन करीब पहुंच गई।
ऊपर से गुजर गई पूरी ट्रेन
मौत करीब थी, लेकिन मो. युनूस ने होशनहीं खोया। पतले-दुबले होने के कारण उन्होंने पूरे शरीर को ट्रैक के बीच में कर लिया तथा दुबक गए। उनके ऊपर से रक्सौल-पाटलिपुत्रा इंटरसिटी एक्सप्रेस गुजर गई।
सिर में आई हल्की खरोंच
ट्रेन गुजरने के बाद वे जैसे ही उठे, लोग उनकी ओर दौड़ पड़े। इस बीच वे उठ खड़े हुए। घटना की सूचना गेटमैन ने तत्काल रेल पुलिस को दी। मौके पर एसआइ प्रदीप कुमार पहुंचे तथा उन्हें इलाज के लिए सदर अस्पताल लेकर पहुंचे। उनके सिर में हल्की खरोंच आई है।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस