जागरण संवाददाता, हाजीपुर :

शारदीय नवरात्र के सातवें दिन मंगलवार को पूरे विधि-विधान के साथ शक्ति की अधिष्ठात्री मां दुर्गा का देवी मंत्रों एवं नेत्र संस्कार के बाद मंदिरों में स्थापित प्रतिमाओं के दर्शन एवं पूजन के लिए पट खोल दिए गए। मां का पट खुलते ही घंटियों, शंखों और मंत्रों से पूरा शहर गूंज उठा। माता रानी के दर्शन-पूजन को पूजा पंडालों एवं देवी मंदिरों में आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा। बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक ने मातारानी के दर्शन के साथ पूरे श्रद्धाभाव से पूजा-अर्चना की। दुर्गा पूजा को लेकर पूजा पंडालों एवं शहर की मुख्य सड़कों की भव्य एवं आकर्षक तरीके से सजावट की गई है। वहीं प्रशासनिक एवं पुलिस पदाधिकारियों ने शहर का भ्रमण कर श्रद्धालुओं से कोरोना को लेकर जारी गाइडलाइन का पालन करने की अपील की। दुर्गा पूजा को हाजीपुर नगर पूरे जिले में सुरक्षा के व्यापक बंदोबस्त किए गए हैं। डीएम उदिता सिंह एवं पुलिस कप्तान मनीष खुद मानिटरिग कर रहे हैं।

शारदीय नवरात्र के सातवें दिन शुक्रवार को श्रद्धालुओं ने माता के सातवें स्वरूप देवी कालरात्रि की पूरे श्रद्धा से माता के भक्तों ने आराधना व पूजा-अर्चना की। आचार्यों ने विधि-विधान के साथ माता का पट्टाभिषेक, पूजन एवं भव्य आरती कराई। बुधवार को माता के आठवें स्वरूप महागौरी की आराधना व पूजा-अर्चना की जाएगी। साथ ही निशा पूजन एवं शस्त्रादि पूजन की जाएगी। इस बार नवरात्र आठ दिन का ही है। इसके कारण आठवें दिन 14 अक्टूबर को ही हवन होगा। उधर सोनपुर प्रखंड के डुमरी बुजुर्ग स्थित मां कालरात्रि मंदिर में मंगलवार को पूरे दिन दर्शन करने के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। संध्या में माता के पिड का भव्य श्रृंगार के उपरांत मंदिर का पट खुलते ही श्रद्धालु मां कालरात्रि का जयकारा लगाने लगे।

सोनपुर : सप्तमी तिथि पर मां दुर्गा का पट खुलते ही संपूर्ण वातावरण गगनभेदी जयघोष से गूंज उठा । सोनपुर के विभिन्न पूजा पंडालों में स्थापित देवी प्रतिमा के समक्ष शीश झुका भक्तों ने इस अवसर पर देवी से सर्वमंगल की कामना की। यहां के नारायणी तट स्थित काली मंदिर, शीतलपुर मां मनाइन मंदिर व शक्तिपीठ माने जाने वाली आमी की मां अंबिका भवानी के दरबार मे भक्तों की भीड़ लगी हुई है। सोनपुर में कई पूजा पंडालों के आसपास मेला सा ²श्य उपस्थित होता था, जो इस बार कहीं दिखाई नहीं पड़ रहा है। हालांकि, श्रद्धालुओं के आस्था एवं विश्वास में कोई कमी नहीं आई है।

महनार : पूरा महनार नगर एवं प्रखंड क्षेत्र में माता दुर्गा की भक्ति में डूबा हुआ है। सोमवार की देर रात ही चमरहरा वाली दुर्गा प्रतिमा का पट्ट भक्तों के जयकारा के बीच खुल गया। माता का पट खुलते ही दर्शन के लिए भक्तों तांता लग गया। इसके पूर्व माता की सखियां को साड़ी पहनाने के लिए चमरहरा वाली दुर्गा मैया के दरबार में माता-बहनों ने कई घंटे तक कतार में लगकर साड़ी पहनाया। सखियां को साड़ी पहनाने वाली माता-बहने को पूरे दिन का उपवास रखना पड़ता है और तब माता को सर्व प्रथम शिष कोहड़े की बलि का प्रसाद ग्रहण कर ही साड़ी पहनाने वाले श्रद्धालु भक्त अपने-अपने उपवास समाप्त करते हैं। यहां बंगाली पद्धति से पूजा होने के कारण षष्टी तिथि को ही माता की आंख खुलती है। जबकि महनार के अन्य जगहों पर अलग-अलग तिथियों को माता की आंख खोली जाती है। कोरोना काल के कारण पूजा के आयोजन में काफी सतर्कता बरती जा रही है। सरकार के स्तर पर जारी दिशा-निर्देश के अनुसार पूजा-अर्चना की जा रही है। गोरिगामा, हरपुर फटिकवारा, वासुदेवपुर, सरमस्तपुर, करनौती आदि तथा नगर क्षेत्र के संगत मन्दिर, बड़ी दुर्गाजी, न्यू रोड, सिनेमा रोड, पटेल चौक, मेन रोड, सिपाही टोला, गंगा घाट किनारा, स्टेशन रोड आदि जगहों पर भी माता रानी की भव्य प्रतिमा स्थापित कर पूरे भक्ति भाव से पूजा-अर्चना की जा रही है।

महुआ : नगर एवं प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न भागों में स्थापित की गई शक्ति की देवी मां दुर्गा की प्रतिमा का वैदिक रीति-रिवाज के साथ पूजा-अर्चना के बाद नेत्र संस्कार के साथ आम श्रद्धालु भक्तों के लिए पट खोल दिया गया। पट खुलते ही मां की जयकारे से पूरा क्षेत्र भक्तिमय हो गया है। महुआ के गांधी चौक, पातेपुर रोड, मुजफ्फरपुर रोड, मंगरू चौक, जवाहर चौक, पुरानी बाजार महुआ, हरपुर चौक, भूतनाथ चौक, मिर्जानगर हाईस्कूल परिसर, हरपुर बेलवा चौक, कुशहर चौक, जिड़वाड़ा चौक, बरहर चौक, अब्ढुलपुर चौक, बहसी चौक सहित दर्जनों स्थानों पर स्थापित की गई मां दुर्गा की भव्य प्रतिमा का नेत्र संस्कार के साथ आम श्रद्धालु भक्तों के लिए शाम में पट खोल दिया गया। वहीं शक्तिपीठ सिघाड़ा में दूसरे दिन सप्तमी को भी मन्नत पूरी होने पर श्रद्धालु भक्तों ने मां के समक्ष बलि प्रदान की। दुर्गा पूजा को लेकर पूरा क्षेत्र में भक्तिमय माहौल बना हुआ है।

राघोपुर : प्रखंड में मंगलवार की संध्या शंख घंटे व जय माता दी की घोष के साथ मां दुर्गा का पट खोल दिया गया। मां दुर्गा की पट खुलते ही श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। घंटों मां की जयकार से वातावरण भक्तिमय हो उठा। प्रखंड के दुर्गा चौक, शिव मंदिर फतेहपुर, जय जुड़ावनपुर गंगा धाम, पुरानी देवी स्थान, हाईस्कूल जुड़ावनपुर, कन्हैया चौक, रामपुर श्यामचंद, मेदन चौक, मीरमपुर मोहनपुर, नवीन दुर्गा पूजा समिति राघोपुर सहित विभिन्न पंडालों में मंगलवार की संध्या पूजा-पाठ के बाद माता दुर्गा का पट खोल दिया गया। जिसके बाद माता का जयघोष करते हुए श्रद्धालु देवी दुर्गा के दर्शन करने लगे। राघोपुर अंचल में 21 जगहों पर दुर्गा पूजा का आयोजन किया गया है। राघोपुर थाना अंतर्गत 4, रुस्तमपुर ओपी अंतर्गत 5 जबकि जुड़ावनपुर थाना अंतर्गत 13 स्थानों पर मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित की गई है। राघोपुर थानाध्यक्ष मुकेश कुमार पुष्पेंद्र ने बताया कि शांतिपूर्ण माहौल में दुर्गा पूजा संपन्न कराने के लिए पूजा स्थल पर पर्याप्त पुलिस बल की व्यवस्था की गई है। दुर्गा पूजा के दौरान असामाजिक तत्वों पर विशेष निगरानी की जाएगी। सभी पूजा समिति को कोरोना गाइडलाइन के अंतर्गत पूजा संपन्न कराने का निर्देश दिया गया है।

Edited By: Jagran