वैशाली। हरिहरक्षेत्र मेला अंतर्गत डाकबंगला के ठीक बगल में वन विभाग की प्रदर्शनी मेला दर्शकों के लिए आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। इस प्रदर्शनी में वाल्मीकि नगर टाइगर प्रोजेक्ट से लेकर राजगीर व नालंदा तथा गया के डोभी में निर्माणाधीन पार्कों का प्रारूप दर्शाया गया है। इस वन्य सफारी में जैसे खुले में बाघ, शेर, चीता, तेंदुआ, गेंडा व हाथी के अलावा जल में क्रीड़ा करते पक्षियों को मॉडल रूप में दर्शाया गया है। लगभग साढ़े पांच सौ स्क्वॉयर फीट में फैले इस प्रदर्शनी में वन विभाग ने अनेकों प्रकार के पौधे लगवाए हैं। किसी में एक आम के पेड़ पर ट्री-हाउस बनाया गया है। वनों में कैसे वन्य प्राणी विचरते हैं, इसे यहां बड़े ही आकर्षक ढंग से दर्शाया गया है। सारण के रेंजर लाला प्रसाद ने बताया कि इस माध्यम से विभाग अपनी निर्माणाधीन योजनाओं से मेला भ्रमण को आए दर्शकों को अवगत करा रहा है। इसमें जो तालाब बनाए गए हैं, उसमें अनेकों प्रकार की मछलियां तैरती नजर आ रही हैं तो दूसरी ओर से वृक्ष से झूलता विशाल अजगर नजर आ रहा है। विडंबना यह है कि इस प्रदर्शनी को मेला के मुख्य क्षेत्र से अलग लगाया गया है। परिणामस्वरूप यहां काफी कम संख्या में लोग पहुंच रहे हैं।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप